DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अवैध पटाखों की बिक्री पर CPCB ने नोएडा के डीएम से मांगी रिपोर्ट, पूछा कैसे हुई SC के आदेश की अवहेलना?

File Photo : HT

सुप्रीम कोर्ट की रोक के बावजूद अनधिकृत रूप से पटाखों की बिक्री को लेकर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने गौतमबुद्धनगर के जिलाधिकारी को नोटिस भेजा है। दिवाली के एक दिन बाद प्रदूषण से दिल्ली-एनसीआर में वायु की गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में दर्ज की गई थी। अधिकारियों ने इसके लिए पटाखे जलाने को जिम्मेदार ठहराया है।

सीपीसीबी अध्यक्ष एस.पी. सिंह परिहार ने एक पत्र में कहा कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा ग्रीन पटाखों को छोड़कर सभी तरह के पटाखों पर रोक लगाए जाने के बाद भी गौतमबुद्धनगर में हानिकारक पटाखे बेचे गए और लोगों ने उन्हें फोड़ा भी था। उपर्युक्त स्थिति सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अवहेलना को दर्शाती है।

सुप्रीम कोर्ट का आदेश न मानने पर 562 के खिलाफ FIR, 323 लोग गिरफ्तार

न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार, गौतमबुद्धनगर जिले में अनधिकृत पटाखों की बिक्री को रोकने के लिए उठाए गए कदमों पर रिपोर्ट जमा करने के लिए जिलाधिकारी को निर्देश जारी किया गया है, जिसमें सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अवहेलना के कारण भी पूछे गए हैं। वहीं, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने सात दिनों के भीतर इस पर रिपोर्ट मांगी है।

इस बीच, गौतमबुद्धनगर प्रशासन ने नोएडा और ग्रेटर नोएडा के सिटी मजिस्ट्रेट के साथ ही जिले के सभी थाना प्रमुखों (एसएचओ) से एक सप्ताह के भीतर अपनी कार्रवाई की रिपोर्ट जमा करने के लिए कहा है।

ज्ञात हो कि सुप्रीम कोर्ट ने हाल के अपने एक फैसले में लोगों को दिवाली और अन्य त्योहारों पर केवल रात में 8 बजे से 10 बजे तक सिर्फ ग्रीन पटाखे फोड़ने की अनुमति दी थी। लेकिन अदालत के आदेश के बावजूद, कुछ स्थानों पर आदेशों का उल्लंघन किया गया जिसमें तय समय से पहले और बाद में पटाखे जलाए गए थे।

सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद भी खूब हुई आतिशबाजी, दिल्ली-NCR में छाई धुंध 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CPCB asks for report on sale of unauthorised firecrackers in Noida