DA Image
16 जनवरी, 2021|9:23|IST

अगली स्टोरी

गंगा राम अस्पताल का दावा- कोविड-19 से हो रहा जानलेवा फंगल इन्फेक्शन, 15 दिन में 13 मामले सामने आए

sir ganga ram hospital

दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल के डॉक्टरों ने दावा किया है कि कोविड-19 से उबर रहे कई लोगों में ऐसा दुर्लभ और जानलेवा फंगल इंन्फेक्शन पाया जा रहा है, जिसके चलते उनमें से लगभग आधे लोगों की आंखों की रौशनी खत्म हो गई है। अस्पताल के अधिकारियों ने सोमवार को यह दावा किया।

उन्होंने कहा कि अस्पताल के आंख-नाक-गला (ईएनटी) डॉक्टरों के सामने बीते 15 दिन में ऐसे 13 मामले सामने आए हैं। अस्पताल के अधिकारियों ने कहा यह एक दुर्लभ और चिंताजनक समस्या है, लेकिन यह नई नहीं है।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 से होने वाला फंगल संक्रमण इसमें नई बात है। अस्पताल ने एक बयान में कहा कि बीते 15 दिन में ईएनटी डॉक्टरों के सामने कोविड-19 के चलते फंगल संक्रमण के 13 मामले सामने आए हैं, जिनमें 50 प्रतिशत मामलों में रोगियों की आंखों की रौशनी चली गई। 


अस्पताल ने एक बयान में कहा की कोविड​​-19 रोगियों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है, जो गंभीर चिंता का कारण है। पिछले 15 दिनों में, ईएनटी सर्जनों ने 50 प्रतिशत से अधिक रोगियों में COVID-19-म्यूकोरमाइकोसिस के 13 मामले देखे हैं, आंखों की रोशनी कम होने और नाक और जबड़े की हड्डी को हटाने की जरूरत है। अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि वर्तमान में मृत्यु दर 50 फीसदी (पांच मरीजों) की सीमा में देखी जा रही है।

अस्पताल में वरिष्ठ ईएनटी सर्जन मनीष मुंजाल के अनुसार, "जिस गति के साथ हम COVID-19 मरीजों में म्यूकोरमाइकोसिस के मामले और मृत्यु दर देख रहे हैं, वह पहले कभी नहीं देखा गया है। यह चौंकाने वाला और खतरनाक है। 

अस्पताल के सलाहकार ईएनटी सर्जन डॉ. वरुण राय ने कहा कि नाक में रुकावट, आंख या गाल में सूजन और नाक में काली सूखी पपड़ी जैसे लक्षण दिखने पर तुरंत ओपीडी में एक जाकर जांच करानी चाहिए और जितना जल्दी हो सके एंटीफंगल थेरेपी शुरू करनी चाहिए।

सीनियर नेत्र सर्जन डॉ. शालू बगेजा ने कहा कि किसी भी फंगल संक्रमण की तरह म्यूकोरमाइकोसिस (Mucormycosis) अधिक तेजी से फैलने वाला रोग है और डायबिटीज, किडनी रोग, या जिनका कोई ट्रांसप्लांट हुआ है, जैसे ज्यादातर कम इम्यूनिटी वाले रोगियों में होता है। यहां तक ​​कि जिन मामलों को हमने हाल ही में देखा है, उनमें भी मरीजों में कोविड-19 ने उनकी इम्यूनिटी को और कमजोर कर दिया है। इसके अलावा, कई कोविड-19 रोगियों को स्टेरॉयड और अन्य दवाएं दी जाती हैं जो उनकी इम्यूनिटी को और कम कर सकते हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली में सोमवार को कोरोना के 1,376 नए मामले दर्ज किए गए, जो साढ़े तीन महीने में सबसे कम थे। इसके साथ ही 60 और लोगों की मौत से मृतकों की संख्या 10,074 पर पहुंच गई है। अधिकारियों ने कहा कि पॉजिटिविटी की दर रविवार को 2.74 प्रतिशत से घटकर 2.15 प्रतिशत हो गई है।

सोमवार को जारी हेल्थ बुलेटिन में कहा गया है कि दिल्ली में अब तक 5,83,509 मरीज ठीक हो चुके हैं उन्हें अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:COVID-19 triggering rare deadly fungal infection claims Ganga Ram hospital