DA Image
21 जनवरी, 2021|11:14|IST

अगली स्टोरी

कोरोना वैक्सीनेशन: तीसरे चरण में बुजुर्गों का टीकाकरण, खुद करना होगा पंजीकरण

कोरोना टीकाकरण के लिए बुजुर्गों को खुद अपना पंजीकरण कराना होगा। इसके लिए प्रशासन द्वारा लिंक जारी किया जाएगा। इसमें अपने पते और आयु वर्ग के साथ पंजीकरण होगा। इसी पंजीकरण के आधार पर उनका टीकाकरण होगा। प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की ओर से टीकाकरण के लिए पूरी तैयारी कर ली गई हैं। अब केवल शासन की ओर से टीकाकरण की शुरूआत और टीके उपलब्ध कराने का इंतजार है।

सरकार की ओर से अलग-अलग वर्ग के टीकाकरण को तीन चरणों में बांटा गया है। इसमें पहले चरण में चिकित्सकों और स्वास्थ्यकर्मियों को रखा गया है। दूसरे चरण में पुलिस और अन्य विभागों के कर्मचारी हैं। तीसरे चरण में उन लोगों को रखा गया है, जिनमें संक्रमण का अधिक खतरा रहता है और संक्रमित होने पर उपचार कठिन है। इसमें 50 वर्ष से अधिक आयु के लोग और विभिन्न बीमारियों से संक्रमित हैं।

शुरूआती दोनों चरणों की संख्या और विवरण की जानकारी प्रशासन और शासन के पास है, लेकिन तीसरे चरण के लोगों को चिन्हित करना काफी मुश्किल है। इसके लिए प्रशासन की ओर से स्वयं पंजीकरण प्रक्रिया शुरू की जाएगी। पहले चरण शुरूआत होने के बाद यह प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। इसमें प्रशासन द्वारा लिंक दिया जाएगा। इस पर व्यक्ति अपनी उम्र, स्वास्थ्य संबंधित विवरण और पते की जानकारी देंगे। इसके बाद उनको विशेष क्रमांक दिया जाएगा, जिसके आधार पर वह टीका लगवा सकेंगे।

दरअसल पहले सरकार की ओर से इस चरण के लोगों का चिन्हिकरण वोटर लिस्ट से करने का आदेश था, लेकिन इसमें व्यक्ति वर्तमान स्थिति की जानकारी और गंभीर मरीजों की जानकारी होना मुश्किल था और अधिकांश लोग इससे वंचित रह जाते। पंजीकरण के बाद व्यक्ति पर दबाव भी नहीं होगा और सभी लोग लाभ उठा सकेंगे। 

स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि दूसरे चरण में जिन लोगों को टीकाकरण लगेगा। उनकी सूची तैयारी की जा रही है। इसके लिए संबंधित विभाग और संस्थाओं से सूची मांगी जा रही है। जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय के अनुसार कोरोना टीकाकरण के लिए सभी स्थलों पर सफाई व्यवस्था और आवश्यक दवाओं की व्यवस्था कर दी गई है। वहीं दूसरे चरण की सूची तैयार की जा रही है। जल्द शासन को भेजी जाएगी। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona vaccination: vaccination of the elderly in the third phase registration itself