DA Image
14 जुलाई, 2020|7:44|IST

अगली स्टोरी

दिल्ली में कोरोना के मामले 9 हजार के पार, अब तक 129 लोगों की मौत

coronavirus

राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के मिलने का सिलसिला लगातार जारी है। हर दिन सैकड़ों की तादाद में नए मरीज सामने आ रहे हैं। इसके साथ ही दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्या भी बढ़कर 129 हो गई है। दिल्ली में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 9333 पर पहुंच गए हैं।

दिल्ली स्वास्थ्य विभाग की ओर से शनिवार को जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 438 नए मामले सामने आए हैं और 6 मरीजों की मौत हुई हैं। राजधानी में अब कोरोना वायरस पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 9333 हो गई है, इसमें 5278 सक्रिय मामले शामिल हैं।

दिल्ली सरकार के मुताबिक, 3926 मरीज इलाज के बाद ठीक भी हुए हैं। मरने वाले व्यक्तियों में 60 साल या उससे अधिक की उम्र के व्यक्तियों की संख्या सबसे अधिक है।

'सरकारी-जरूरी सेवाओं से जुड़े कर्मियों के लिए चलाई जाए दिल्ली मेट्रो'

दिल्ली सरकार ने कोरोना के विषय में लिखित जानकारी साझा करते हुए कहा कि कोरोना से मरने वालों में सबसे अधिक 60 वर्ष या उससे अधिक उम्र के व्यक्ति हैं। दिल्ली में ऐसे कुल 1367 व्यक्तियों को कोरोना वायरस हुआ है जिनमें से अब तक तक 67 की मृत्यु हो चुकी है। वहीं 50 से 60 वर्ष की उम्र के 1416 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, इनमें से 35 व्यक्तियों की मृत्यु हो चुकी है। सबसे अधिक कोरोना रोगी 50 वर्ष या उससे कम उम्र के व्यक्ति हैं। 50 साल से कम उम्र के 6550 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गिए हैं। इनमें से 27 व्यक्तियों की मृत्यु हुई है।  

दिल्लीवाले 10 दिन में पी गए 170 करोड़ की शराब, इस कारण बढ़ी बिक्री

दिल्ली में कोरोना के 3926 रोगी अभी तक ठीक भी हो चुके हैं। इनमें से 408 रोगियों को बीते 24 घंटे के बीच अस्पताल से छुट्टी दी गई है। शनिवार को शहर में कुल 5278 कोरोना के एक्टिव रोगी हैं। दिल्ली में कोरोना के 155 रोगी आईसीयू में हैं, जबकि उसमें से  26 लोग वेंटिलेटर पर हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली में अभी तक 1,30,845 टेस्ट किए जा चुके हैं। दिल्ली सरकार उन सभी इलाकों को हॉटस्पॉट मानकर सील कर रही है, जहां कोरोना के 3 से अधिक मामले एक साथ पाए गए हैं।

दिल्ली में अब कुल 76 कोरोना कंटेनमेंट जोन हैं। इन इलाकों को दिल्ली सरकार ने दिल्ली पुलिस की मदद से पूरी तरह सील कर दिया है। किसी भी कोरोना कंटेनमेंट जोन या कोरोना हॉटस्पॉट में बाहर का कोई व्यक्ति प्रवेश नहीं कर सकता। इसी तरह इन कंटेनमेंट जोन में रह रहे लोग भी इस इलाके से बाहर नहीं आ सकते। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि कोरोना का संक्रमण इन क्षेत्रों से निकलकर अन्य इलाकों में न फैल सके। 

कोरोना पर गर्मी का भी कोई असर नहीं

स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा कि पहले लगता था कि गर्मी शुरू होगी तो कोरोना चला जाएगा। हमें विश्वास था कि एक मई इसका आखरी दिन होगा और हमेशा के लिए चला जाएगा, लेकिन अब यह जाने वाला नहीं लग रहा है। ब्राजील समेत कई देशों में काफी अधिक गर्मी बढ़ गई है, इसके बाद भी कोरोना पर ज्यादा असर नहीं पड़ा है। 

सत्येंद्र जैन ने कहा कि अब हमें कोरोना के साथ जीना सीखना ही पड़ेगा। जहां तक कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने की बात है, तो हमें इसकी संख्या पर नहीं जाना चाहिए। हमें इसके बढ़ने के प्रतिशत को देखना चाहिए। कल इसके बढ़ने की दर करीब 5 प्रतिशत थी। अभी यहां कोरोना मरीजों के बढ़ने की दर 5 से 5.5 प्रतिशत है। कभी इसके बढ़ने की दर 20 प्रतिशत थी। फिर 12 हुई। इसके बाद कम हुआ और अब 5-6 प्रतिशत है।

जैन ने कहा कि लोगों ने सुझाव दिया है कि बसें चलाई जाएं, लेकिन पूरी क्षमता में नहीं, बल्कि कुछ बसें चलाई जाएं। इसी तरह, मेट्रो चलाने का सुझाव आया है।

COVID-19 से निपटने को दिल्ली की डॉ. राधिका बत्रा ने जीती ग्लोबल फंडिंग 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona cases tally crossed 9 thousand in Delhi 129 deaths so far