ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRकेजरीवाल को इंसुलिन नहीं देने के मामले पर बढ़ा टकराव, AAP और तिहाड़ जेल में छिड़ी जुबानी जंग

केजरीवाल को इंसुलिन नहीं देने के मामले पर बढ़ा टकराव, AAP और तिहाड़ जेल में छिड़ी जुबानी जंग

'आप' ने तिहाड़ जेल प्रशासन पर सीएम अरविंद केजरीवाल की शुगर रिपोर्ट छिपाने का आरोप लगाया। वहीं, तिहाड़ प्रशासन ने कहा है कि वीडियो कॉन्फ्रेंस से एम्स के वरिष्ठ डॉक्टरों ने केजरीवाल को सलाह दी है।

केजरीवाल को इंसुलिन नहीं देने के मामले पर बढ़ा टकराव, AAP और तिहाड़ जेल में छिड़ी जुबानी जंग
Praveen Sharmaनई दिल्ली। हिन्दुस्तानMon, 22 Apr 2024 05:47 AM
ऐप पर पढ़ें

आम आदमी पार्टी (आप) ने रविवार को तिहाड़ जेल प्रशासन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की शुगर रिपोर्ट छिपाने का आरोप लगाया। वहीं, तिहाड़ प्रशासन ने कहा है कि वीडियो कॉन्फ्रेंस से एम्स के वरिष्ठ डॉक्टरों ने केजरीवाल को सलाह दी है। उनके मुताबिक, फिलहाल चिंता की कोई बात नहीं है। 'आप' कार्यालय पर पत्रकारवार्ता में दिल्ली सरकार के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि केजरीवाल 22 साल से डायबिटीज के मरीज हैं। उन्हें वर्तमान में 50-53 यूनिट इंसुलिन रोज चाहिए, मगर जेल प्रशासन उन्हें इंसुलिन नहीं दे रहा है। उन्हें निजी डॉक्टर से भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बात नहीं करने दी जा रही।

मंत्री ने डीजी तिहाड़ जेल का एम्स को लिखा एक पत्र दिखाते हुए दावा किया कि इसमें एम्स से शुगर विशेषज्ञ डॉक्टर उपलब्ध कराने को कहा गया है। इससे साफ है कि तिहाड़ में शुगर का कोई डॉक्टर नहीं है। उसके बाद भी सीएम को उनके डॉक्टर से सलाह नहीं लेने दी जा रही। उन्होंने कहा कि तिहाड़ में दूसरे मरीजों को इंसुलिन मिल रही है, लेकिन केजरीवाल को नहीं दी जा रही है।

आरोपों को नकारा : तिहाड़ प्रशासन ने आरोपों पर कहा, शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस से एम्स के वरिष्ठ विशेषज्ञ ने 40 मिनट केजरीवाल को सलाह दी। उन्होंने आश्वस्त किया कि चिंता की कोई बात नहीं है। उन्हें अपनी दवाइयां जारी रखने को कहा गया है, जिनकी नियमित समीक्षा होगी।

'आप' नेताओं का तिहाड़ जेल के बाहर प्रदर्शन

केजरीवाल को इंसुलिन नहीं दिए जाने के विरोध में आम आदमी पार्टी ने रविवार को तिहाड़ जेल के बाहर प्रदर्शन किया। इस दौरान इंसुलिन लेकर पहुंचे नेताओं ने तिहाड़ जेल प्रशासन व भाजपा शासित केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। प्रदर्शन के दौरान 'आप' नेता इंसुलिन लेकर पहुंचे। उनका कहना था कि यह दवाई दिल्ली के लोगों ने मुख्यमंत्री के लिए भेजी है। दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने कहा कि मुख्यमंत्री बीते 22 साल से अधिक समय से गंभीर शुगर की बीमारी से ग्रसित हैं। वह इसे नियंत्रित करने के लिए इंसुलिन लेते हैं। तिहाड़ में उनका शुगर लेवल 300 के ऊपर चला गया है, लेकिन बार-बार कहने के बाद भी जेल प्रशासन उन्हें इंसुलिन नहीं दे रहा है। उलटा गलत तथ्यों से परे शुगर जांच रिपोर्ट को प्रचारित कर रहा है, जिससे उन्हें दवा न देनी पड़े।

आतिशी ने कहा कि एक हफ्ते से ज्यादा हो गया है, सीएम का शुगर लेवल ऊपर चल रहा है, लेकिन दवा क्यों नहीं दी जा रही है। आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री को मारने की साजिश रची जा रही है। इस दौरान बुराड़ी से 'आप' विधायक संजीव झा समेत आदि नेता भी मौजूद रहे। उधर, पुलिस ने तिहाड़ के बाहर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी थी।

लोगों की सहानुभूति लेने का प्रयास भाजपा

वहीं, दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा का कहना है कि आम आदमी पार्टी द्वारा राजनीति की जा रही है, जिसकी अब पोल खुल गई है। तिहाड़ जेल के डॉक्टरों द्वारा शनिवार को चिकित्सा रिपोर्ट जारी की गई। साथ में एम्स और राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉक्टरों के साथ मुख्यमंत्री के हुए वीडियो संवाद की रिपोर्ट दी गई, जिससे साबित हो जाता है कि भले ही दिल्ली के मुख्यमंत्री को शुगर हो, लेकिन उनका शुगर लेवल जेल में नियंत्रित है। मुख्यमंत्री ने स्वयं एम्स और राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉक्टरों से इंसुलिन की मांग नहीं की।