ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRमंत्रियों की मनाही के बावजूद हटाए सिविल डिफेंसकर्मी, 10 हजार की नौकरी गई; दिल्ली सरकार का LG पर आरोप

मंत्रियों की मनाही के बावजूद हटाए सिविल डिफेंसकर्मी, 10 हजार की नौकरी गई; दिल्ली सरकार का LG पर आरोप

दिल्ली सरकार ने एक बार फिर उपराज्यपाल पर आरोप लगाए हैं। इस बार मंत्रियों की मनाही के बावजूद सिविल डिफेंसकर्मियों को हटाने का आरोप लगया है। सरकार ने कहा कि एलजी के दबाव में फैसला लिया गया।

मंत्रियों की मनाही के बावजूद हटाए सिविल डिफेंसकर्मी, 10 हजार की नौकरी गई; दिल्ली सरकार का LG पर आरोप
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 29 Feb 2024 06:52 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली सरकार में राजस्व मंत्री आतिशी ने कहा कि मंत्रियों की लिखित में मनाही के बाद भी सिविल डिफेंसकर्मियों को 31 अक्तूबर 2023 को हटा दिया गया। एलजी के दबाव में अधिकारियों ने यह फैसला करके महिलाओं की सुरक्षा के साथ समझौता किया और एक झटके में 10 हजार से अधिक वॉलंटियर को सड़क पर ला दिया। आतिशी ने बुधवार को सदन में सिविल डिफेंसकर्मियों को लेकर हो रही अल्पकालिक चर्चा पर जवाब दिया। 

आतिशी ने कहा, सभी जानते हैं कि डीटीसी बसों में महिलाओं को सफर का क्या अनुभव होता है। कॉलेज जाने वाली लड़की हो या फिर कामकाजी महिला। डीटीसी की बसों में हमेशा उनके साथ अश्लीलता, बदतमीजी की खबरें आती रहती हैं। वर्ष 2015 में जब अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने इस समस्या पर ध्यान दिया और बसों में सिविल डिफेंसकर्मियों को बतौर बस मार्शल तैनात किया। 

अचानक राजस्व विभाग के अधिकारी ने आदेश दे दिया कि सभी बस मार्शल को हटा दिया गया। वहीं, सौरभ भारद्वाज ने कहा कि हम बस मार्शल के साथ हैं, लेकिन उन्हें भाजपा सांसदों के यहां जाना चाहिए। उनसे कहना चाहिए कि एलजी से बोलिए की हमें रखें।

संविदाकर्मियों को पक्का करें बिधूड़ी

दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने सिविल डिफेंसकर्मियों को लेकर हुई चर्चा को लेकर दिल्ली सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार की सिफारिश पर ही सिविल डिफेंसकर्मियों को हटाया गया था। हम सरकार से मांग करते हैं कि सिविल डिफेंसकर्मियों के साथ होमगार्ड, आंगनबाड़ी, आशा वर्कर्स, गेस्ट टीचर्स, वोकेशनल टीचर्स, सफाई कर्मचारी, डीटीसी तथा दिल्ली सरकार में ठेके पर काम कर रहे सभी संविदा कर्मचारियों को भी पक्का किया जाए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें