अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुठभेड़ के बाद काबू में आया छेनू गिरोह का शार्प शूटर अनवर हटेला

arrested

यमुनापार में चार महीने पहले दो अलग-अलग इलाकों में चार घंटे के भीतर दो युवकों की गोलियों से भूनकर हत्या करने वाले एक लाख रुपये के इनामी कुख्यात बदमाश को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल व यूपी पुलिस की संयुक्त टीम ने बुधवार तड़के अमरोहा में हुई मुठभेड़ के बाद काबू किया। मुठभेड़ के बाद पुलिस के हत्थे चढ़े इस बदमाश को तीन गोलियां लगीं। उसका मेरठ के अस्पताल में इलाज चल रहा है। उसकी पहचान अनवर हटेला (30) के रूप में हुई है। 
यूपी पुलिस के साथ हुए ज्वॉइंट ऑपरेशन में एसओ देहात और सेल के एक इंस्पेक्टर को गोली लगी है, लेकिन उन्हें मामूली जख्म है। बदमाश अनवर हटेला की गिरफ्तारी पर दिल्ली पुलिस ने की तरफ से एक लाख और यूपी पुलिस ने 25 हजार का इनाम घोषित किया था। अनवर तिहाड़ जेल में बंद गैंगस्टर छेनू पहलवान गैंग का शार्प शूटर है और उसी के इशारे पर यह वारदात को अंजाम देता था। 

चार महीने की मशक्ककत के बाद मिली सूचना

स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद सिंह कुशवाहा ने बताया कि उनकी टीम पिछले चार महीने से इस बदमाश सहित दिल्ली-एनसीआर में सक्रिय बदमाशों की धरपकड़ में जुटी हुई थी। इसी दौरान इरफान उर्फ छेनू गैंग के अनवर हटेला के अमरोहा में छिपे होने की सूचना मिली। यह भी पता चला कि वह अपनी पत्नी और एक साथी सहित सेंट्रो कार में सवार होकर वारदात को अंजाम देने के इरादे से दिल्ली जाएगा। इस सूचना पर स्पेशल सेल की टीम ने गुरुवार तड़के करीब 4:30 बजे अमरोहा बाइपास के पास यूपी पुलिस की टीम के साथ उसे रुकने का ईशारा किया। लेकिन वह कार की रफ्तार तेज कर भागने लगा। इस पर पुलिस ने करीब ढाई किलोमीटर तक पीछा किया। 

चारों तरफ से घिरने पर पुलिस पर की फायरिंग

जब वह चारों तरफ से घिर गया तो पुलिस पर फायरिंग कर दी। इसमें स्पेशल सेल के इंस्पेक्टर शिव कुमार और यूपी पुलिस के इंस्पेक्टर राजेंद्र नागर की बुलेट प्रूफ जैकेट में गोलियां लगीं। वहीं, यूपी पुलिस के इंस्पेक्टर धमेंद्र हाथ में गोली लगने की वजह से जख्मी हो गए। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने फायरिंग की, जिसमें पैरों में तीन गोलियां लगने की वजह से अनवर गंभीर रूप से जख्मी हो गया। जबकि उसके अन्य साथ मौके से फरार होने में कामयाब हो गए। 

गाड़ी से पुलिस ने कार्बाइन बरामद किया

पुलिस ने गाड़ी से कार्बाइन बरामद किया है। मुठभेड़ के बाद गाड़ी की तलाशी ली तो उसमें कार्बाइन और 20 गोलियां मिली। इसके अलावा आरोपियों द्वारा चलाई गई गोलियों के 11 खोल जबकि पुलिस द्वारा चलाई गई गोलियों के 14 खोल मौके से बरामद हुए। कार से 75 हजार रुपए नकद भी मिले। इस मुठभेड़ को लेकर अमरोहा में मामला दर्ज किया गया है। 

विरोधी गुट के सदस्य को मारी थी 20 से ज्यादा गोली

अनवर यूपी के अमरोहा का रहने वाला है। बीते साल 22 अक्तूबर को उसने अपने साथियों के साथ स्कूटी पर जा रहे वाजिद और फैज पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई थी। इस वारदात में वाजिद की 20 से ज्यादा गोली लगी थी, जिससे उसकी मौत हो गई थी। जबकि फ़ैज़ जख्मी हुआ था। इस वारदात के चंद घंटों बाद ही उन्होंने आरिफ हुसैन नामक युवक की भी 15 से ज्यादा गोली मारकर हत्या कर दी थी। खास बात यह है कि दोनों ही गैंग के आका जेल से बैठे-बैठे अपने गुर्गों को निर्देश देकर वारदातों को अंजाम दिलवा रहे हैं। 

छेनू पहलवान गिरोह का शार्प शूटर है आरोपी

पुलिस के हत्थे चढ़ा यह आरोपी जेल में बंद कुख्यात गैंगेस्टर छेनू पहलवान गिरोह का शार्प शूटर है। पिछले दिनों छेनू पहलवान गैंग के शार्प शूटर को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया था, जिसके पास पुलिस को हथियार के साथ बुलेट प्रूफ जैकेट भी मिली थी। तभी ये जानकारी मिली थी कि इस गिरोह के बदमाश पुलिस से बचने के लिए रास्ते में बुलेट प्रूफ जैकेट का भी इस्तेमाल करते हैं।

पत्नी को साथ लेकर चलता था हटेला

आरोपी ने अमरोहा में अपना एक मकान बना लिया था। वहां पर वह पत्नी एवं एक बच्चे के साथ रहता था। घर से बाहर जाते समय वह गाड़ी में अपनी पत्नी को बिठाकर चलता था ताकि रास्ते में जांच के दौरान पुलिसकर्मी उस पर शक ना करें। वह बीते 14 वर्षो से आपराधिक वारदातों में शामिल रहा है। पहली बार वह वर्ष 2014 में गिरफ्तार हुआ था। 10 से ज्यादा वारदातों में पुलिस को उसकी तलाश थी।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Chhenu Gang Sharp Shooter Anwar Hatela arrested after Encounter