ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRFIR पर तरकरार, भूपेश बघेल बोले- निर्वाचन आयोग को अपनी भूमिका निष्पक्ष रखनी चाहिए

FIR पर तरकरार, भूपेश बघेल बोले- निर्वाचन आयोग को अपनी भूमिका निष्पक्ष रखनी चाहिए

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भूपेश बघेल ने नोएडा में चुनाव प्रचार के दौरान कोविड-19 संबंधी नियमों के उल्लंघन के आरोप में अपने खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद सोमवार को कहा कि...

FIR पर तरकरार, भूपेश बघेल बोले- निर्वाचन आयोग को अपनी भूमिका निष्पक्ष रखनी चाहिए
Praveen Sharmaनई दिल्ली। एजेंसियां Mon, 17 Jan 2022 04:18 PM

इस खबर को सुनें

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भूपेश बघेल ने नोएडा में चुनाव प्रचार के दौरान कोविड-19 संबंधी नियमों के उल्लंघन के आरोप में अपने खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद सोमवार को कहा कि निर्वाचन आयोग को अपनी भूमिका निष्पक्ष रखनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि आयोग को बताना चाहिए कि मौजूदा स्थिति में कैसे प्रचार करना है। 

बघेल ने यहां संवाददाताओं से कहा कि मेरे साथ कई सुरक्षाकर्मी रहते हैं। कई पत्रकार भी थे। लोग आ रहे हैं, मिल रहे हैं। आखिर चुनाव प्रचार कैसे होगा। निर्वाचन आयोग को बताना चाहिए कि कैसे प्रचार करना है।

उन्होंने कहा कि मेरे के खिलाफ ही कार्रवाई क्यों हुई? अमरोहा में भाजपा के प्रत्याशी और मंत्री के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं हुई, जबकि वे घर-घर जाकर प्रचार कर रहे हैं। निर्वाचन आयोग को अपनी भूमिका निष्पक्ष रखनी चाहिए। अभी शुरुआत में निष्पक्षता दिखाई नहीं दे रही है तो आखिर में क्या उम्मीद करें?''

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में नोएडा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी के प्रचार के लिए रविवार को नोएडा आए बघेल के खिलाफ कोविड-19 संबंधी नियमों के उल्लंघन के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई।

बघेल रविवार को कुछ समर्थकों के साथ नोएडा में कांग्रेस की प्रत्याशी पंखुड़ी पाठक के समर्थन में घर-घर प्रचार के लिए गए थे, जब नियमों का कथित उल्लंघन हुआ। महामारी कानून के तहत दर्ज मामले में आरोपियों में छत्तीसगढ़ के वरिष्ठ कांग्रेस नेता के अलावा 'अन्य' के नाम भी हैं।

वहीं, ग्रेटर नोएडा में एक सभा में छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल कहा कि उत्तर प्रदेश में रोजगार, किसान, महिलाओं के सम्मान की नहीं जाति और धर्म की बात होती है। यूपी में 2 बार जाति के आधार पर सरकार बनी तो अखिलेश जी, मायावती जी CM बने। धर्म के आधार पर सरकार बनी तो योगी जी CM बने, लेकिन जनता को क्या मिला?

उन्होंने कहा कि नोएडा और दादरी विधानसभा में किसानों की समस्या बड़ी है। अभी तक इनके मुआवजे का प्रकरण पूरा नहीं हुआ। इन्हें इनका मालिकाना हक नहीं मिला। कांग्रेस पार्टी की सरकार बनती है तो इन्हें मालिकाना हक दिया जाएगा। लोग परिवर्तन की लहर चाहते हैं।

बघेल के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने पर भाजपा-कांग्रेस में जुबानी जंग तेज

बता दें कि, कांग्रेस की छत्तीसगढ़ इकाई ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के खिलाफ कथित तौर पर कोविड-19 नियमों का उल्लंघन करने को लेकर नोएडा में एफआईआर दर्ज करने पर कांग्रेस और भाजपा में जुबानी जंग तेज हो गई है। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुशील आनंद शुक्ला ने कल कहा था कि भाजपा उत्तर प्रदेश में बघेल के चुनाव अभियान को मिल रही अच्छी प्रतिक्रिया से डर गई है। एफआईआर योगी आदित्यनाथ (मुख्यमंत्री) की हताशा को दर्शाती है। बघेल ने घर-घर जाकर प्रचार के दौरान कोविड नियमों का पालन किया और निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुसार केवल पांच लोग ही उनके साथ थे।

वहीं, भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता अनुराग सिंहदेव ने पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस नेताओं को यह समझना चाहिए कि उत्तर प्रदेश में कानून का राज है और कानून से बड़ा कोई नहीं हो सकता। छत्तीसगढ़ में खुलेआम नियमों और कोविड-19 दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वाले कांग्रेसियों को कानून का सम्मान करने की आदत डालनी चाहिए। 

epaper