ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRनोएडा : दो युवतियों के साथ ओयो होटल में रुके केमिकल फैक्ट्री मालिक की लाश मिली, गुरुवार रात से था लापता

नोएडा : दो युवतियों के साथ ओयो होटल में रुके केमिकल फैक्ट्री मालिक की लाश मिली, गुरुवार रात से था लापता

 नोएडा की सेक्टर-113 पुलिस थाना क्षेत्र के सेक्टर 117 स्थित एक ओयो होटल से 48 वर्षीय फैक्ट्री मालिक का शव मिला है और उनकी कार, मोबाइल फोन नकदी आदि गायब है। वह दो युवतियों के साथ होटल...

नोएडा : दो युवतियों के साथ ओयो होटल में रुके केमिकल फैक्ट्री मालिक की लाश मिली, गुरुवार रात से था लापता
Praveen Sharmaनोएडा। भाषा Sat, 22 Jan 2022 03:28 PM

इस खबर को सुनें

 नोएडा की सेक्टर-113 पुलिस थाना क्षेत्र के सेक्टर 117 स्थित एक ओयो होटल से 48 वर्षीय फैक्ट्री मालिक का शव मिला है और उनकी कार, मोबाइल फोन नकदी आदि गायब है। वह दो युवतियों के साथ होटल में आए थे। पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है।

अपर पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) रणविजय सिंह ने बताया कि मृतक कारोबारी की पहचान उमेश कुमार के तौर पर की गई है और शुक्रवार को होटल के कमरे से उनका शव मिला था। पुलिस अधिकारी ने बताया कि मृतक के परिजनों के मुताबिक, उमेश गुरुवार रात से लापता थे और उन्होंने गुरुवार को ही नोएडा फेस-2 थाना में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी थी।

अपर उपायुक्त ने बताया कि मृतक नोएडा सेक्टर 82 में रहता था और नोएडा फेस-2 थाना क्षेत्र में उसकी केमिकल बनाने की फैक्ट्री है। उन्होंने बताया कि  पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह हार्ट अटैक बताई गई है।

पुलिस ने बताया कि जांच में पता चला है कि उमेश दो युवतियों के साथ होटल आए थे। उमेश की मौत के बाद दो महिलाएं तथा उनके साथी मृतक का मोबाइल फोन, नकदी तथा एमजी हेक्टर कार आदि लेकर फरार हो गए हैं। पुलिस ने बताया कि मृतक के परिजनों ने इस मामले में अभी तक नोएडा सेक्टर-113 थाना में कोई शिकायत नहीं दर्ज कराई है। 

लुक्सर जेल में बंद विचाराधीन कैदी की इलाज के दौरान मौत

गौतमबुद्ध नगर जिले की लुक्सर जेल में बंद एक विचाराधीन कैदी की इलाज के दौरान मौत हो गई। लुक्सर जेल अधीक्षक अरुण प्रताप सिंह ने बताया कि सूरजपुर थाना क्षेत्र के देवला गांव का रहने वाला आलोक (27)  चोरी के मामले में जेल में बंद था। उन्होंने बताया कि 15 जनवरी को उसकी तबीयत अचानक खराब हो गई। उसे गंभीर हालत में नोएडा के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे मेरठ मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया।

जेल अधीक्षक ने बताया कि तबीयत ज्यादा खराब होने पर उसे वेंटिलेटर पर रखा गया था। मेरठ मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। वह दो वर्ष से जेल में बंद था। उन्होंने बताया कि मृतक के परिजनों को सूचना दे दी गई है। शव का पोस्टमॉर्टम करवाया जा रहा है। 

epaper