Certain humane considerations must influence grant of visa Delhi High Court tells Centre - हाईकोर्ट ने केन्द्र से कहा, वीजा देते वक्त विशेष मानवीय कारणों पर भी हो विचार DA Image
18 नबम्बर, 2019|2:25|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाईकोर्ट ने केन्द्र से कहा, वीजा देते वक्त विशेष मानवीय कारणों पर भी हो विचार

delhi high court

दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि विदेशी नागरिकों को वीजा मंजूर करने के संबंध में केन्द्र सरकार के पास असीमित विवेकाधिकार है, लेकिन निर्णय करते समय कुछ खास मानवीय कारणों पर जरूरी विचार किया जाना चाहिए।

हाईकोर्ट ने ये टिप्पणियां केन्द्र को उज्बेकिस्तान की एक महिला को वीजा मंजूर करने का निर्देश देते हुए कीं। इस विदेशी महिला को भारत में प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई थी जबकि उसके एक नाबालिग बच्चे को यहां इलाज के लिए मेडिकल वीजा दिया जा चुका है।

जस्टिस विभु भाखरू ने कहा कि बच्चे को मेडिकल वीजा जारी करना, लेकिन माता-पिता को प्रवेश की अनुमति नहीं देने से कोई उद्देश्य पूरा नहीं होने वाला है। कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि अदालतों ने कई फैसलों में मानवीय रुख अपनाने के महत्व को रेखांकित किया है।

कोर्ट ने कहा कि केन्द्र सरकार के पास विदेशी नागरिकों को वीजा देने के संबंध में असीमित विवेकाधिकार है, लेकिन निर्णय करते वक्त कुछ खास मानवीय कारणों पर विचार किया जाना चाहिए।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Certain humane considerations must influence grant of visa Delhi High Court tells Centre