DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्लीः धनशोधन मामले में सीबीआई ने सत्येंद्र जैन से की आठ घंटे पूछताछ

satyendra jain

सीबीआई ने धनशोधन मामले को लेकर गुरुवार को दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन से करीब आठ घंटे तक पूछताछ की। आरोप है कि अपने पद का दुरुपयोग करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने चार कंपनियों के माध्यम से करोड़ों रुपये का धनशोधन किया। इस सिलसिले में सीबीआई ने बीते माह जैन की भूमिका को लेकर प्रारंभिक जांच (पीई) का मामला दर्ज किया था। 

जानकारी के मुताबिक दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को बीते सप्ताह सीबीआई ने पूछताछ के लिए नोटिस जारी किया था। उन्हें गुरुवार को सीबीआई मुख्यालय में पेश होने के लिए कहा गया था। वह सुबह करीब 11 बजे मुख्यालय पहुंचे। उनसे धनशोधन मामले में इस्तेमाल की गई फर्जी कंपनियों के बारे में जानकारी हासिल की गई। सूत्रों का कहना है कि कुछ सवालों के जवाब उन्हें सीधे तौर पर नहीं दिये। आयकर विभाग की तरफ से सीबीआई को भेजी गई जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2015-16 में स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने अपने पद का दुरुपयोग किया है। वह चार करोड़ 63 लाख रुपये के धनशोधन में शामिल रहे हैं। 

इसमें प्रयास इंफो सोल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड, अकिनचंद डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड तथा मंगलयतन प्रोजेक्ट्स प्रा.लि.कंपनियां भी शामिल रही हैं। उन पर यह आरोप है कि वर्ष 2010 से 12 के बीच 11 करोड़ 78 लाख रुपये मैसर्स इंडोमेटल प्राइवेट लिमिटेड कंपनी  के माध्यम से नगद राशि कोलकात्ता के एंट्री आपरेटर को दिये गए थे। बाद में यह राशि कृषि भूमि खरीद के लिए इस्तेमाल की गई थी। याद रहे कि सीबीआई पहले भी स्वास्थ्य मंत्री के ओएसडी की नियुक्ति के संबंध में मामला दर्ज कर चुकी है। प्राथमिकी में चाचा नेहरु अस्पताल के निदेशक अनूप मेहता, ओएसडी निंकुज अग्रवाल सहित अन्य लोग शामिल हैं।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CBI, money laundering case, Delhi Government, Health Minister Satyendra Jain