ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCR'कोई लॉजिक नहीं है', शराब घोटाले में पूछताछ के लिए CBI के समन पर बोलीं के कविता- नहीं आ सकती

'कोई लॉजिक नहीं है', शराब घोटाले में पूछताछ के लिए CBI के समन पर बोलीं के कविता- नहीं आ सकती

Delhi excise policy scam case : के कविता ने सीबीआई से लिखित तौर से कहा है कि वो सोमवार को पूछताछ के लिए हाजिर नहीं होगीं। उन्होंने अपने कई सार्वजनिक कार्यक्रमों और SC में याचिका का हवाला दिया है।

'कोई लॉजिक नहीं है', शराब घोटाले में पूछताछ के लिए CBI के समन पर बोलीं के कविता- नहीं आ सकती
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 25 Feb 2024 07:39 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के चर्चित शराब घोटाले में जांच एजेंसियों की रडार पर चल रही बीआरएस नेता के कविता ने सीबीआई से कहा है कि वो अपना समन वापस लें। के कविता ने जांच एजेंसी से कहा है कि शराब घोटाले में पूछताछ से संबंधित समन वो वापस लें। NDTV ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि के कविता ने सीबीआई से लिखित तौर से कहा है कि वो सोमवार को पूछताछ के लिए हाजिर नहीं होगीं। इसके लिए उन्होंने अपने कई सार्वजनिक कार्यक्रमों और सुप्रीम कोर्ट में अपनी पेंडिंग पड़ी याचिका का हवाला दिया है। सीबीआई ने के कविता को सीआरपीसी की धारा 41ए के तहत पूछताछ के लिए समन भेजा है। इसपर के कविता ने सीबीआई को लिखी चिट्ठी में कहा है कि इस धारा के तहत उन्हें समन भेजने का कोई लॉजिक या वजह नहीं हैं। 

दिल्ली के कथित आबकारी नीति घोटाले में के कविता को 26 फरवरी को सीबीआई ने पूछताछ के लिए बुलाया है। लेकिन उससे पहले अब बीआरएस नेता ने सीबीआई से पूछताछ के लिए भेजा गया नोटिस वापस लेने के लिए कहा है। बता दें कि यह दूसरी बार है जब सीबीआई ने के कविता को इस कथित घोटाले में पूछताछ के लिए बुलाया है 

इससे पहले हैदराबाद के बंजारा हिल्स स्थित के कविता के आवास पर दिसंबर के महीने में सीबीआई ने उनसे पूछताछ की थी। इसी केस में के कविता से प्रवर्तन निदेशालय (ED)भी पूछताछ कर चुकी है। ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट में बीआरस नेता के कविता को आरोपी बनाया है। 

के कविता पर आरोप है कि वो उस साउथ ग्रुप का हिस्सा थीं जिसने आप सरकार के तत्कालीन डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के साथ इस घोटाले की साजिश रची थी। आरोप है कि के कविता ने इस घोटाले के जरिए बेनामी संपत्ति Indospirits में इनवेस्ट की थी।

ED इससे पहले बीआरएस की एमएलसी के कविता से रिश्वत लेने के आरोपों और इस कथित घोटाले में पैसों के ट्रांसफर से जुड़े सवाल पूछ चुकी है। दावा किया जाता है कि हैदराबाद के व्यापारी और कथित तौर से कविता के करीबी अरुण रामचंद्रण पिल्लई ने ईडी को दिए गए अपने बयान में कविता का नाम लिया था। यह भी दावा किया जाता है कि ऑडिटर गोरंटला बाबू ने कविता के साथ कई बैठक करने और Whatsapp पर चैट की बात कही है। ईडी का दावा है कि साउथ ग्रुप को के कविता ही नियंत्रित करती थीं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें