ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRदिल्ली में प्रदूषण पर लगेगा ब्रेक, एक अक्टूबर को लॉन्च होगा विंटर एक्शन प्लान; इन 15 प्वाइंट्स पर फोकस

दिल्ली में प्रदूषण पर लगेगा ब्रेक, एक अक्टूबर को लॉन्च होगा विंटर एक्शन प्लान; इन 15 प्वाइंट्स पर फोकस

दिल्ली के 13 प्रदूषण हॉट स्पाट के लिए विशेष टीमों का गठन किया गया है। ये टीमें इन जगहों का दौरा कर सर्दियों के लिए कार्ययोजना तैयार करेंगी, ताकि प्रदूषण के स्रोतों की रोकथाम की जा सके।

दिल्ली में प्रदूषण पर लगेगा ब्रेक, एक अक्टूबर को लॉन्च होगा विंटर एक्शन प्लान; इन 15 प्वाइंट्स पर फोकस
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 15 Sep 2023 05:49 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के 13 प्रदूषण हॉट स्पाट के लिए विशेष टीमों का गठन किया गया है। ये टीमें इन जगहों का दौरा कर सर्दियों के लिए कार्ययोजना तैयार करेंगी, ताकि यहां मौजूद प्रदूषण के स्रोतों की रोकथाम की जा सके। दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने गुरुवार को सचिवालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में इसकी जानकारी दी।

इससे पूर्व पर्यावरण मंत्री ने दिल्ली के 28 विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में सर्दियों के मौसम में प्रदूषण की रोकथाम को लेकर विचार-विमर्श किया गया। बैठक के बाद पर्यावरण मंत्री ने पत्रकारों से कहा कि दिल्ली में अक्तूबर से प्रदूषण का स्तर बढ़ने लगता है। इसे देखते हुए दिल्ली सरकार की ओर से विंटर एक्शन प्लान तैयार किया जा रहा है। 

मंगलवार को दिल्ली सरकार ने पर्यावरण एवं वायु गुणवत्ता विशेषज्ञों के साथ बैठक की थी। इसमें विशेषज्ञों ने अलग-अलग सुझाव दिए थे। इन्हीं सुझावों को लेकर दिल्ली के 28 ऐसे विभागों के साथ बैठक की गई, जिन्हें इन सुझावों को अमलीजामा पहनाना है। पर्यावरण मंत्री ने बताया कि इस बार पूरी दिल्ली के लिए विंटर एक्शन प्लान तैयार करने के साथ-साथ प्रदूषण के 13 हॉट स्पाट को लेकर अलग से कार्ययोजना तैयार की जा रही है, चूंकि इन 13 जगहों पर प्रदूषण के कारक अलग-अलग हैं, इसलिए इनके लिए अलग कार्ययोजना की जरूरत भी है।

चिह्नित स्थानों के लिए खास बिंदु तय

पर्यावरण मंत्री ने कहा कि इन 13 जगहों का जमीनी स्तर पर निरीक्षण कर कार्ययोजना तैयार करने के लिए 13 टीमों का गठन किया गया है। इसके साथ ही बैठक में कार्ययोजना के लिए 15 फोकस बिन्दु भी तय किए हैं। इन बिन्दुओं में हॉट स्पॉट प्रबंधन, पराली, धूल प्रदूषण, वाहन प्रदूषण, खुले में कचरा जलाना, औद्योगिक प्रदूषण, ग्रीन ऐप व ग्रीन वार रूम, रियल टाइम अपोर्समेंट स्टडी, पटाखों पर प्रतिबंध, पौधरोपण, अर्बन फार्मिंग, ई-वेस्ट ईको पार्क, जन जागरुकता अभियान, केंद्र व पड़ोसी राज्यों के साथ संवाद और ग्रैप क्रियान्वयन शामिल हैं।

25 सितंबर तक कार्ययोजना पेश करेंगे

पर्यावरण मंत्री ने बताया कि सभी विभागों की ओर से 25 सितंबर तक विंटर कार्ययोजना दी जाएगी, जिसे पर्यावरण विभाग एकत्रित कर अभियान की रूपरेखा तैयार करेगा। एक अक्तूबर से मुख्यमंत्री इसे लागू करेंगे।