ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRबॉबी कटारिया कबूतरबाजी केस की जांच की आंच NCR तक पहुंची, कई लोग गुरुग्राम पुलिस के रडार पर

बॉबी कटारिया कबूतरबाजी केस की जांच की आंच NCR तक पहुंची, कई लोग गुरुग्राम पुलिस के रडार पर

गुरुग्राम पुलिस ने इस मामले में अब विदेश भेजने वाले एजेंटों की कुंडली भी खंगालनी शुरू कर दी है। गुरुग्राम जिले में कितने एजेंट सक्रिय हैं, जो नौकरी के नाम पर विदेश भेजने का काम करते हैं।

बॉबी कटारिया कबूतरबाजी केस की जांच की आंच NCR तक पहुंची, कई लोग गुरुग्राम पुलिस के रडार पर
Praveen Sharmaगुरुग्राम। गौरव चौधरीSun, 02 Jun 2024 07:29 AM
ऐप पर पढ़ें

नौकरी के नाम पर विदेश भेजने का कारोबार बीते कई सालों से गुरुग्राम के साथ-साथ दिल्ली-एनसीआर में चल रहा है। एजेंट बेरोजगार युवाओं को विदेशों में भेज कर नौकरी दिलाने के बड़े-बड़े सपने दिखाते हैं, लेकिन असल में ज्यादातर युवाओं को गोल्डन ट्रायंगल वाले देशों में भेजा जाता है, वहां पर युवाओं को बंधक बनाकर और डराकर ठगी करने के लिए दबाव बनाया जाता है। इसका खुलासा लाओस देश से वापस लौटे दो युवकों ने किया है।

गुरुग्राम पुलिस ने अब इस मामले में आगे की जांच शुरू करते हुए विदेश भेजने वाले एजेंटों की कुंडली भी खंगालनी शुरू कर दी है। गुरुग्राम जिले में कितने एजेंट सक्रिय हैं, जो नौकरी के नाम पर विदेश भेजने का काम करते हैं। वह कब से गुरुग्राम में यह कारोबार कर रहे हैं। इसके अलावा उनका भी डेटा तैयार किया जा रहा है। एजेंट के द्वारा भेजे गए युवाओं की भी जानकारी जुटाई जा रही है। उसके बाद विदेशों में भेजने वाले लोगों से भी पुलिस जल्द संपर्क करेगी। कुछ गलत हुआ है, तो पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी।

छह देशों से हो रहा ठगी का कारोबार : भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र के अनुसार, छह देशों में गोल्डन ट्रायंगल बनाकर जालसाज लोगों से ठगी कर रहे। जालसाज कोरियर के नाम पर, डिजिटल अरेस्ट, निवेश करने और पार्ट टाइम जॉब के नाम पर लोगों को झांसे में लेकर करोड़ों रुपये की ठगी करते हैं। कंबोडिया, म्यांंमार, वियतनाम, लाओस, चीन और थाईलैंड से ठगी के कारोबारा को चलाया जाता है, जबकि इसका केंद्र लाओस देश है। 

कई लोग पुलिस के रडार पर

जांच अधिकारी ने बताया कि बॉबी कटारिया से पूछताछ और दस्तावेजों की जांच में कुछ और लोगों के नाम सामने आए हैं। उनकी भूमिका की भी जांच शुरू कर दी गई है। जांच के दौरान सामने आए साक्ष्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। वहीं पुलिस की जांच में बॉबी कटारिया के साथ वीडियो बनाने वाली महिला के बारे में भी पुलिस जानकारी हासिल करेगी।

बॉबी कटारिया के सोशल मीडिया पेज बंंद करवा रही पुलिस

विदेश भेज कर वहां पर ठगी करवाने के दबाव बनाने के मामले में गुरुग्राम पुलिस और राष्ट्रीय जांच दल (एनआईए) की टीम ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए रविवार को सेक्टर-109 से बलवंत कटारिया (बॉबी कटारिया) को गिरफ्तार किया था। आरोपी की तीन दिन की रिमांड लेने के बाद शुक्रवार को पुलिस ने उसे जेल भेज दिया। अब गुरुग्राम पुलिस बॉबी कटारिया के नेटवर्क को ध्वस्त करने के लिए सोशल मीडिया पर बनाए गए उसके सभी पेज बंद करवा रही है। अभी तक बॉबी कटारिया के सोशल मीडिया पर बने पांच से ज्यादा पेज व अकाउंट को पुलिस और एनआईए की टीम बंद करवा चुकी है। आगामी कार्रवाई करते हुए गुरुग्राम पुलिस ने भी सोशल मीडिया पर बने सभी पेज व अकाउंट की जानकारी हासिल कर रही है, उनको बंद करवाने के लिए आगामी कार्रवाई कर रही है।

लोकेशन मांगी गई थी

बॉबी कटारिया की भूमिका सामने आने के बाद गिरफ्तारी से पहले भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र के अधिकारी द्वारा गुरुग्राम पुलिस से लोकेशन और जानकारी मांगी गई थी। गुरुग्राम पुलिस के द्वारा सभी जानकारी मुहैया करवाने के बाद बॉबी कटारियों को रविवार दोपहर को सेक्टर-109 स्थित उसके ऑफिस से गिरफ्तार किया गया था।

डीसीपी साइबर सिद्धांत जैन ने कहा कि गुरुग्राम में विदेश भेजने वाले एजेंट के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। वह कौन-कौन से देशों में युवाओं को भेज चुके है।एक पूरा डाटा भी तैयार किया जाएगा,ताकि पुलिस को हर एजेंट की गतिविधियों के बारे में पूरी जानकारी हो। 

 

Advertisement