ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRप्रदूषण पर टोपी ट्रांसफर वाली सियासत; AAP बोली- हरियाणा बड़ा गुनहगार, CM मनोहर लाल ने कहा- पंजाब

प्रदूषण पर टोपी ट्रांसफर वाली सियासत; AAP बोली- हरियाणा बड़ा गुनहगार, CM मनोहर लाल ने कहा- पंजाब

Pollution Crisis in Delhi: दिल्ली में बढ़े प्रदूषण को लेकर सियासत चरम पर है। आम आदमी पार्टी ने इसके लिए हरियाणा को सबसे बड़ा गुनहगार बताया है। वहीं हरियाणा के सीएम ने पंजाब पर उंगली उठाई है।

प्रदूषण पर टोपी ट्रांसफर वाली सियासत; AAP बोली- हरियाणा बड़ा गुनहगार, CM मनोहर लाल ने कहा- पंजाब
Krishna Singhएजेंसियां,नई दिल्लीWed, 08 Nov 2023 03:32 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली में प्रदूषण के मसले पर सियासत भी तेज है। आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) ने दिल्ली में प्रदूषण के लिए हरियाणा सरकार को जिम्मेदार ठहरा दिया है। आम आदमी पार्टी ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण के लिए हरियाणा सरकार सबसे ज्यादा दोषी है। वहीं हरियाणा सरकार ने AAP के आरोपों पर पलटवार करते हुए पराली जलाने की घटनाओं के लिए पंजाब को जिम्मेदार ठहराया। हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि पंजाब में पराली जलाने के कई मामले सामने आ रहे हैं। इससे हरियाणा और दिल्ली के लोगों को परेशानी हो रही है। 

आप विधायक दुर्गेश पाठक ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि केंद्रीय पर्यावरण मंत्री ऐसे समय में चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं जब दिल्ली प्रदूषण संकट का सामना कर रही है। उन्होंने जनता को उनके हाल पर छोड़ दिया है। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि जब शीर्ष अदालत इतने गंभीर मामले पर चर्चा कर रही थी, तो केवल दिल्ली और पंजाब सरकारों की ओर से हलफनामा दाखिल किया, किसी अन्य राज्य ने अपना हलफनामा तक दाखिल नहीं किया। भाजपा प्रदूषण की समस्या के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब को जिम्मेदार ठहराती है। ऐसा लगता है कि केजरीवाल को बदनाम करने के लिए एजेंडा चलाया जा रहा है।

आप विधायक दुर्गेश पाठक ने दावा किया कि यह बात सामने आई है कि हरियाणा का कैथल सबसे प्रदूषित जिला है लेकिन इस पर कोई चर्चा नहीं हो रही है। प्रदूषण फैलाने में दिल्ली की कोई भूमिका नहीं है। सच्चाई यह है कि दिल्ली में प्रदूषण संकट के लिए हरियाणा सबसे बड़ा दोषी है। पराली जलाने से लोगों को परेशानी हो रही है। हरियाणा कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। हरियाणा सरकार किसानों के साथ कोई चर्चा नहीं कर रही है। हरियाणा सरकार प्रदूषण की रोकथाम के लिए कोई योजना नहीं बना रही है। वह AAP को दोषी ठहराते हैं। 

वहीं हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्रदूषण संकट के लिए पंजाब की ओर उंगली उठाई। उन्होंने बुधवार को कहा कि प्रदूषित हवा सीमाओं तक सीमित नहीं है। हरियाणा के लोग भी पंजाब में पराली जलाने की घटनाओं से पीड़ित हैं। पंजाब में पराली जलाने के कई मामले रिपोर्ट किए गए हैं। जब पंजाब में पराली जलाने के मामले होते हैं, तो इसका असर हरियाणा और दिल्ली के लोगों पर भी पड़ता है। चाहे केजरीवाल हों या भगवंत मान, मैं सभी से अपील करता हूं, यदि किसी सहायता की जरूरत है तो हम मदद करने के लिए तैयार हैं। इस मुद्दे पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। पर्यावरण को स्वच्छ रखना सभी की सामूहिक जिम्मेदारी है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें