DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  COVID-19 वैक्सीन पर सियासत तेज, मीनाक्षी लेखी का केजरीवाल पर हमला, बोलीं- 'आप' का यूनिवर्सल वैक्सीन का वादा धोखा

एनसीआरCOVID-19 वैक्सीन पर सियासत तेज, मीनाक्षी लेखी का केजरीवाल पर हमला, बोलीं- 'आप' का यूनिवर्सल वैक्सीन का वादा धोखा

नई दिल्ली। एएनआईPublished By: Praveen Sharma
Tue, 11 May 2021 05:17 PM
COVID-19 वैक्सीन पर सियासत तेज, मीनाक्षी लेखी का केजरीवाल पर हमला, बोलीं- 'आप' का यूनिवर्सल वैक्सीन का वादा धोखा

कोरोना को मात देने के लिए दिल्ली में कोविड-19 वैक्सीन की कमी को लेकर आम आदमी पार्टी (आप) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीच सियासत तेज हो गई है। नई दिल्ली सीट से भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने मंगलवार कहा कि लगातार विज्ञापन आ रहा है कि अरविंद केजरीवाल दिल्ली में यूनिवर्सल वैक्सीन उपलब्ध कराने वाले हैं। अब तक ना तो ग्लोबल टेंडर किया है और ना कहीं से वैक्सीन का प्रावधान किया गया है। उन्होंने मुख्यमंत्री केजरीवाल को चुनौती देते हुए कहा कि हिम्मत है तो टेंडर की कॉपी दिखाओ, लोगों को धोखा देना ही आज इनकी रणनीति रह गई है।

लेखी ने कहा कि जब भी ऑक्सीजन के ऑडिट की बात आती है तो ये ऐसे विषयों से भागना चाहते हैं, ये ऑक्सीजन और पैसों के ऑडिट की बात नहीं करते हैं क्योंकि ये जानते हैं कि दिल्ली के साथ मोहल्ला क्लीनिक की तरह ऑक्सीजन का भी फ्रॉड कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पिछले एक साल के दौरान दिल्ली में एक भी नया आईसीयू बेड नहीं जोड़ा गया है। दिल्ली में केवल प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष द्वारा भेजे गए वेंटिलेटर हैं। 'आप' ने केवल ऑक्सीजन पर एक से डेढ़ करोड़ रुपये खर्च किए हैं और शायद ये वही ऑक्सीजन सिलेंडर हैं जो उनके उन विधायकों से बरामद किए जा रहे हैं।


वहीं, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भी भाजपा पर पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा का कहना है कि दिल्ली सरकार को अंतरराष्ट्रीय बाजार से टीके खरीदने के लिए एक अंतरराष्ट्रीय निविदा मंगानी चाहिए थी। क्या इसका मतलब यह है कि सभी राज्य सरकारों को टीके खरीदने के लिए अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में जाना चाहिए? फिर, भारत सरकार की भूमिका क्या है?

गौरतलब है कि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सोमवार को दावा किया था कि 'आप' सरकार ने मई में राजधानी के लिए कोरोना वायरस टीके की 1.34 करोड़ डोज का कंपनियों को ऑर्डर दिया था, लेकिन केंद्र की भाजपा सरकार ने मात्र 3.5 लाख डोज की अनुमति दी है। सिसोदिया ने दावा किया कि कि भाजपा झूठ की राजनीति कर रही है और दिल्ली सरकार पर बस 5.5 लाख डोज का ऑर्डर देने का झूठा आरोप लगा रही है।

उन्होंने कहा कि अप्रैल में जब केंद्र ने तय किया कि राज्य टीका कंपनियों को सीधे ऑर्डर दे सकते हैं तो अरविंद केजरीवाल सरकार ने 18 से 44 साल उम्र के लोगों के लिए 1.34 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया था। उन्होंने दावा किया कि बाद में केंद्र सरकार ने एक पत्र लिखकर हमसे कहा कि हमें मई में बस करीब साढ़े तीन लाख डोज ही मिल सकती हैं।

सिसोदिया ने यह कहते हुए भाजपा को निशाना बनाया कि जब देश में लोग मर रहे थे तब उसकी सरकार विदेश में टीके बेच रही थी। उन्होंने भाजपा पर कोविड-19 की दूसरी लहर के बीच कुंभ मेले का आयोजन करने एवं विधानसभा चुनाव कराने का आरोप लगाया था। उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि केंद्र को राज्य सरकारों को देने के बजाय विदेशों में टीके बेचने में अधिक रुचि है।  

संबंधित खबरें