ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदादरी नगर पालिका की चेयरमैन के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले BJP के सभासद 28 से करेंगे भूख हड़ताल

दादरी नगर पालिका की चेयरमैन के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले BJP के सभासद 28 से करेंगे भूख हड़ताल

दादरी नगर पालिका में चल रहा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। भाजपा चेयरमैन पर आरोप लगाकर इस्तीफा देने वाले सभासदों ने 28 फरवरी से एसडीएम कार्यालय पर भूख हड़ताल पर बैठने का ऐलान किया है।

दादरी नगर पालिका की चेयरमैन के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले BJP के सभासद 28 से करेंगे भूख हड़ताल
Praveen Sharmaदादरी (ग्रेटर नोएडा)। हिन्दुस्तानSun, 25 Feb 2024 02:04 PM
ऐप पर पढ़ें

ग्रेटर नोएडा के दादरी नगर पालिका में चल रहा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। भाजपा चेयरमैन पर आरोप लगाकर इस्तीफा देने वाले सभासदों ने 28 फरवरी से एसडीएम कार्यालय पर भूख हड़ताल पर बैठने का ऐलान किया है। असंतुष्ट सभासदों को मना पाने में पार्टी संगठन भी कामयाब नहीं हो सका है।

नाराज सभासदों की मांग है कि पालिका में सभासदों की कमेटियों का गठन किया जाए। वर्तमान हालातों में चेयरमैन के अधिकार जब्त किए जाएं। दादरी नगर पालिका सीट पर भाजपा की चेयरमैन गीता पंडित हैट्रिक लगा चुकी हैं। इस बार उनके लिए अपने ही सभासदों को संतुष्ट कर पाना चुनौती बना हुआ है।

पालिका चेयरमैन के खिलाफ इस्तीफा देने वालों में 8 सभासद भाजपा के हैं। उनके खिलाफ भूख हड़ताल पर भाजपा के ही सभासद बैठने जा रहे हैं। भाजपा के सभासद आदेश भाटी ने कहा कि 28 फरवरी से वह और उनके साथ वार्ड दो से भाजपा सभासद हरीश रावल भूख हड़ताल पर बैठेंगे, जबकि इस्तीफा देने वाले अन्य 13 सभासद एसडीएम कार्यालय पर ही प्रदर्शन में साथ रहेंगे। उन्होंने कहा कि सभासदों के इस्तीफे के बाद अभी तक जिला प्रशासन ने पालिका में हो रहे भ्रष्टाचार के कार्यों की जांच शुरू नहीं कराई है। ना ही पालिका की चेयरमैन के अधिकारों पर अभी तक रोक लगाई गई है।

उन्होंने मांग करते हुए कहा कि नगर पालिका में सभासदों की कमेटियों का गठन कर उन्हें अधिकार सौंपे जाएं और नगर पालिका क्षेत्र में सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें भूमाफिया घोषित किया जाए और यह जमीनें कब्जा मुक्त कराई जाएं।

राजनीतिक साजिश की जांच कराएं चेयरमैन

नगर पालिका चेयरमैन गीता पंडित ने कहा कि यह उन्हें बदनाम करने की राजनीतिक साजिश है। इस मामले में जिलाधिकारी जांच कराएं और जो दोषी हो उसके खिलाफ कार्रवाई करें। वह जांच के लिए तैयार हैं। उन पर भ्रष्टाचार के आरोप साजिश के तहत लगाए गए हैं। वह तीन बार से लगातार चेयरमैन हैं और पहले भी चेयरमैन रहीं हैं। कभी सभासदों की कोई समिति नहीं बनी, अब कुछ सभासद समिति बनाने की मांग कर उन पर दबाव बना रहे हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें