ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRसड़क पर मना रहे थे बर्थडे पार्टी, तेज आवाज में गाने का विरोध पड़ा भारी; 8 महीने की गर्भवती सहित पूरे परिवार को पीटा

सड़क पर मना रहे थे बर्थडे पार्टी, तेज आवाज में गाने का विरोध पड़ा भारी; 8 महीने की गर्भवती सहित पूरे परिवार को पीटा

फरीदाबाद में जन्मदिन की पार्टी के दौरान 15-20 युवक सड़क पर कार खड़ी कर शोर मचाते हुए शराब पी रहे थे। वह तेज आवाज में गाना और साइरन बजा रहे थे। मना करने पर गर्भवती सहित पूरे परिवार को पीटा।

सड़क पर मना रहे थे बर्थडे पार्टी, तेज आवाज में गाने का विरोध पड़ा भारी; 8 महीने की गर्भवती सहित पूरे परिवार को पीटा
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,फरीदाबादThu, 20 Jun 2024 07:22 AM
ऐप पर पढ़ें

फरीदाबाद की राजीव कॉलोनी स्थित एक घर में आयोजित जन्मदिन की पार्टी के दौरान 15-20 युवक सड़क पर कार खड़ी कर शोर मचाते हुए शराब पी रहे थे। वह तेज आवाज में गाना और साइरन बजा रहे थे। पड़ोसी ने इसका विरोध किया तो सभी उन हमला कर दिया। इसमें आठ महीने की गर्भवती महिला समेत परिवार के चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। सेक्टर-58 थाना की पुलिस जांच में जुटी है।

पुलिस के मुताबिक पीड़ित पवन शर्मा ने शिकायत में बताया है कि वह रोहतक के गांव सांपला का रहने वाला है। मुजेसर स्थित एक कंपनी में काम करता है। सोमवार को वह राजीव कॉलोनी निवासी सहकर्मी राजेश तिवारी के घर पर रुक गया। रात करीब 12 बजे राजेश तिवारी के पड़ोसी विक्की के घर में जन्मदिन की पार्टी थी। इस दौरान विक्की अपने 15-20 दोस्तों के साथ सड़क पर कार खड़ी कर शोर कर रहे थे। सभी सड़क पर ही शराब पी रहे थे और कार में तेज आवाज में गाना और साइरन बजा रहे थे। यह सुनकर राजेश तिवारी की पत्नी संगीता तिवारी उन लोगों को आठ महीने की गर्भवती बेटी की तबीयत खराब होने का हवाला देकर शोर नहीं करने को कहा।

उनका आरोप है कि इस पर सभी युवक राजेश तिवारी की पत्नी पर हमला कर दिया और सड़क पर ही मारपीट शुरू कर दी। वह उन्हें बचाने पहुंचा तो आरोपियों ने उसके साथ भी मारपीट शुरू कर दी। यहां तक कि सभी घर में घुस आए और पथराव करने लगे। आरोपियों ने बीच-बचाव करने पहुंची संगीता की आठ माह की गर्भवती बेटी के सिर पर ईंट मारकर उसे लहुलूहान कर दिया। मारपीट में परिवार के चार लोग घायल हो गए। हमले में पवन शर्मा को हाथ और सिर में, गर्भवती सोनम पांडे के सिर में और संगीता तिवारी को भी शरीर के चार जगह पर चोट आई है। पीड़ित पवन शर्मा ने बताया कि गर्भवती की हालत गंभीर है। उसके सिर पर आठ टांके आए हैं।

पुलिस पर आरोपियों को छोड़ने का आरोप

पीड़ित का आरोप है कि मामले की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस आरोपियों को हिरासत में लेकर थाने लेकर पहुंची लेकिन एक घंटे में सभी को छोड़ दिया। पुलिस ने पीड़ितों को खुद ही अस्पताल में जाकर एमएलआर कटवाने को कहा। घायलावस्था में सभी पीड़ित अस्पताल से एमएलआर कटवाकर पुलिस को दिया, तब जाकर पुलिस ने मंगलवार रात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

आरोपी आधे घंटे तक मारपीट करते रहे

पीड़ित पवन शर्मा ने बताया कि मारपीट के दौरान उन्होंने पुलिस को तुरंत कॉल किया, लेकिन आधे घंटे बाद वह मौके पर पहुंची। इस दौरान तक आरोपियों ने जमकर हंगामा किया। वे पूरे परिवार को आधे घंटे तक मारपीट करते रहे। आस-पड़ोस के लोग आरोपियों से मारपीट नहीं करने की अपील करते रहे, लेकिन आरोपी नहीं मानें।