ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRबिहार का मोस्ट वॉन्टेड गैंगस्टर आजाद अली दिल्ली में गिरफ्तार, स्पेशल सेल ने जॉइंट ऑपरेशन में दबोचा

बिहार का मोस्ट वॉन्टेड गैंगस्टर आजाद अली दिल्ली में गिरफ्तार, स्पेशल सेल ने जॉइंट ऑपरेशन में दबोचा

गिरफ्तार गैंगस्टर आजाद अली बिहार में दो हत्याओं और हत्या के प्रयास सहित डकैती, हथियार कानून, फिरौती के लिए अपहरण, मारपीट, चोट पहुंचाने तथा डराने-धमकाने के कई मामलों में शामिल रहा है।

बिहार का मोस्ट वॉन्टेड गैंगस्टर आजाद अली दिल्ली में गिरफ्तार, स्पेशल सेल ने जॉइंट ऑपरेशन में दबोचा
Praveen Sharmaनई दिल्ली | भाषाSat, 21 May 2022 06:49 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बिहार पुलिस के साथ जॉइंट ऑपरेशन में बिहार के एक वॉन्टेड अपराधी को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। आरोपी के खिलाफ बिहार में हत्या, अपहरण, डकैती और रंगदारी मांगने जैसे गंभीर अपराधों के कई मामले दर्ज हैं।

पुलिस अधिकारियों ने शनिवार को इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी की पहचान बिहार के सीवान जिले के निवासी आजाद अली (43) के रूप में हुई है। दिल्ली पुलिस को सूचना मिली थी कि बिहार में विधान परिषद चुनाव के दौरान सनसनीखेज गोलीबारी के सिलसिले में वांछित अपराधी दिल्ली-एनसीआर में छिपा है।

डीसीपी (स्पेशल सेल) जसमीत सिंह ने कहा कि शुक्रवार को पुलिस को सूचना मिली थी कि आजाद अली राजघाट के पास एक स्थान पर अपने एक साथी से मिलने आएगा। उसे पकड़ने के लिए एक जॉइंट टीम तैनात की गई थी और रात करीब 11:15 बजे आजाद अली को देखा गया। उन्होंने बताया कि मामूली हाथापाई के बाद उसे पकड़ लिया गया।

पुलिस ने बताया कि उसके पास से एक पिस्तौल और तीन कारतूस बरामद किए गए हैं। अली चार अप्रैल को सीवान में हुई गोलीबारी के एक मामले में वॉन्टेड था।

पुलिस के अनुसार, आफताब आलम नामक व्यक्ति ने आजाद अली, ओसामा (दिवंगत शहाबुद्दीन के पुत्र) और सात-आठ अन्य लोगों के साथ मिलकर मोहम्मद रहीस खान की कारों के काफिले पर एके-47 राइफल से उस वक्त अंधाधुंध गोलीबारी की थी, जब वे लोग मतदान के बाद अपने गांव लौट रहे थे। उन्होंने बताया कि इस घटना में पांच लोगों को कई गोलियां लगी थीं और उनमें से एक विनोद यादव की अस्पताल में मौत हो गई थी।

पुलिस ने बताया कि आलम और रहीस सीवान के दो खूंखार अपराधी हैं और दोनों के बीच दुश्मनी थी। आलम को पूर्व सांसद एवं बाहुबली नेता शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा का समर्थन प्राप्त था। उन्होंने बताया कि रहीस ने विधान परिषद का चुनाव लड़ा था, लेकिन वह हार गया था।

आजाद अली बिहार में दो हत्याओं और हत्या के प्रयास सहित डकैती, हथियार कानून, फिरौती के लिए अपहरण, मारपीट, चोट पहुंचाने तथा डराने-धमकाने के कई मामलों में शामिल है। 

epaper