ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRइन दो गांवों के आठ हजार किसानों को मिलने वाली है बड़ी राहत, ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी लगाएगी शिविर

इन दो गांवों के आठ हजार किसानों को मिलने वाली है बड़ी राहत, ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी लगाएगी शिविर

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी किसानों को राहत देने के लिए शिविर लगाएगी। प्राधिकरण जमीन देने वाले किसानों की छह फीसदी भूखंड प्राप्त करने की पात्रता तय करने के लिए गांवों में शिविर लगाएगा।

इन दो गांवों के आठ हजार किसानों को मिलने वाली है बड़ी राहत, ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी लगाएगी शिविर
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,ग्रेटर नोएडाWed, 31 Jan 2024 10:46 AM
ऐप पर पढ़ें

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने धरना शुरू होते ही किसानों के कामों में तेजी शुरू कर दी है। प्राधिकरण जमीन देने वाले किसानों की छह फीसदी भूखंड प्राप्त करने की पात्रता तय करने के लिए गांवों में शिविर लगाएगा। पहला शिविर एक फरवरी को डाढ़ा गांव और दो फरवरी को सिरसा गांव में शिविर लगेगा। इससे करीब आठ हजार किसान लाभान्वित होंगे।

प्राधिकरण विकास परियोजनाओं के लिए किसानों की जमीन अधिग्रहित करता है। उसके एवज में प्राधिकरण की तरफ से कुल अधिग्रहित जमीन का छह फीसदी हिस्सा विकसित करके किसानों को देता है। इसकी पात्रता तय करने के लिए किसानों को प्राधिकरण आना पड़ता है। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ एनजी रवि कुमार ने किसानों को सुविधा प्रदान करते हुए छह फीसदी भूखंड प्राप्त करने की पात्रता तय करने के लिए गांवों में ही जाकर शिविर लगाने के निर्देश जारी किए हैं।

आपत्ति भी दर्ज करा सकते हैं किसान

प्राधिकरण के ओएसडी हिमांशु वर्मा ने बताया कि भूलेख विभाग की टीम एक फरवरी को सुबह 11 बजे से डाढ़ा के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में शिविर लगाएगी। इसके बाद दो फरवरी को सिरसा गांव में शिविर लगाया जाएगा। इस शिविर में एसीईओ स्तर के अधिकारी भी मौजूद रहेंगे। पात्रता तय कराने के लिए किसान संबंधित दस्तावेज लेकर इस शिविर में आ सकते हैं। अगर किसी को आपत्ति है तो वह भी इस कैंप में आपत्ति दर्ज करा सकते हैं। गांवों में शिविर लगाने से किसानों को सुविधा मिलेगी। उनको प्राधिकरण नहीं आना पड़ेगा। करीब आठ हजार किसानों की पात्रता तय होनी है।

संशोधन कराने का मौका

गांवों में लगने वाले शिविर में एसआईटी जांच में जिन प्रकरणों को निरस्त किया गया है, उनमें सुधार के लिए आवेदन किया जा सकता है। लीज बैक करने के लिए इसी शिविर में आवेदन की सुविधा मिलने से किसानों को भटकना नहीं पड़ेगा। किसान आवेदन करने लिए परेशान रहते हैं। अब उन्हें राहत मिली है।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ एनजी रवि कुमार ने कहा, 'किसानों की समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर हल किया जा रहा है। आबादी के भूखंड की पात्रता तय करने के लिए गांवों में शिविर लगाए जाएंगे। इसकी तिथि तय कर दी गई है।'

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें