ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRकहां और कैसे फॉर्मेट किया फोन; बिभव को लेकर मुंबई गई दिल्ली पुलिस

कहां और कैसे फॉर्मेट किया फोन; बिभव को लेकर मुंबई गई दिल्ली पुलिस

पुलिस ने कोर्ट से बिभव की कस्टडी मांगते हुए भी इस बात का जिक्र किया था और कहा था कि उसे मुंबई ले जाना जरूरी है।

कहां और कैसे फॉर्मेट किया फोन; बिभव को लेकर मुंबई गई दिल्ली पुलिस
Aditi Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 21 May 2024 01:04 PM
ऐप पर पढ़ें

स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट मामले की जांच में जुटी दिल्ली पुलिस अब बिभव कुमार को मुंबई लेकर जा रही है। दरअसल 13 मई की घटना के बाद बिभव ने मुंबई में ही अपना फोन फॉर्मेट किया था। ऐसे में पुलिस अब यब पता लगाने में जुटी है कि फोन को कहां और कैसे फॉर्मेट किया ताकी फोन के डेटा को रिट्रीव किया जा सके। इसी के चलते पुलिस बिभव को मुंबई को लेकर आई है। इससे पहले पूरी घटना को रीक्रिएट करने के लिए सोमवार को पुलिस बिभव को मुख्यमंत्री आवास लेकर गई थी ताकी ये पता लगाया जा सके कि उस दिन कैसेृ-कैसे क्या-क्या हुआ। इससे पहले पुलिस स्वाति मालीवाल को सीएम आवास ले जाकर भी क्राइम सीन रीक्रिएट कर चुकी है।

उधर मामले की जांच के लिए एक एसआईटी का भी गठन कर दिया गया है। एसआईटी का नेतृत्व उत्तरी दिल्ली की डीसीपीअंजिता चेप्याला कर रही हैं, जो पहले से जांच की जिम्मेदारी संभाल रही हैं। एसआईटी में इंस्पेक्टर रैंक के तीन अधिकारी भी शामिल हैं, जिनमें सिविल लाइंस पुलिस स्टेशन का अधिकारी भी शामिल है, जहां मामला दर्ज किया गया था।

इससे पहले दिल्ली पुलिस के अधिकारी ने कहा लथा कि बिभव से पूछताछ की गई है और मामले के संबंध में लगभग 20 लोगों के बयान दर्ज किए गए हैं। अधिकारी ने कहा था कि जरूरत पड़ने पर मुख्यमंत्री और उनके परिवार के सदस्यों के बयान भी लिए जा सकते हैं।

केजरीवाल के निजी सहयोगी बिभव कुमार को शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया था और यहां की एक अदालत ने उन्हें पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेजा था। अधिकारी ने कहा, ‘‘दिल्ली पुलिस अधिकारियों की एक टीम घटना के नाट्य रूपांतरण के लिए शाम करीब पांच बजकर 45 मिनट पर बिभव को मुख्यमंत्री आवास लेकर गई। टीम करीब एक घंटे तक वहां रही और बाद में बिभव को उनके अपने घर ले जाया गया, जो उसी इलाके में स्थित है।’’

18 मई को सीएम आवास क्यों गए बिभव?

मालीवाल ने बिभव पर 13 मई को उनके साथ मुख्यमंत्री आवास में मारपीट करने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी। अधिकारी ने बताया कि पूछताछ के दौरान, जांचकर्ताओं ने कुमार से पूछा है कि वह कथित घटना के पांच दिन बाद और जिस दिन उन्हें गिरफ्तार किया गया था, 18 मई को मुख्यमंत्री के घर क्यों गए थे।

पुलिस के मुताबिक, मुख्यमंत्री आवास से मालीवाल द्वारा की गई पीसीआर कॉल के समय ड्यूटी पर रहे दिल्ली पुलिसकर्मियों सहित लगभग 20 लोगों के बयान दर्ज किए गए हैं, जिनमें सिविल लाइंस थाने में तैनात पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। पुलिस ने कहा कि कुमार का फोन और केजरीवाल के आवास से सीसीटीवी की डीवीआर बरामद कर ली गई है तथा इसे आगे की जांच के लिए फॉरेंसिक प्रयोगशाला में जमा किया जाएगा।

एजेंसी से इनपुट