ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRआधार कार्ड बनवा 15 साल से भारत में रह रहा बांग्लादेशी गाजियाबाद में दबोचा, BJP विधायक ने केजरीवाल को घेरा

आधार कार्ड बनवा 15 साल से भारत में रह रहा बांग्लादेशी गाजियाबाद में दबोचा, BJP विधायक ने केजरीवाल को घेरा

भारत में 15 वर्षों से अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशी नागरिक को गाजियाबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस को उसके पास से भारत का आधार कार्ड और बांग्लादेश का पासपोर्ट बरामद हुआ है।

आधार कार्ड बनवा 15 साल से भारत में रह रहा बांग्लादेशी गाजियाबाद में दबोचा, BJP विधायक ने केजरीवाल को घेरा
Praveen Sharmaलोनी (गाजियाबाद)। हिन्दुस्तानWed, 29 Nov 2023 02:13 PM
ऐप पर पढ़ें

भारत में 15 वर्षों से अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशी नागरिक को गाजियाबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस दौरान उसके दो साथी अंधेरे का लाभ उठाकर भागने में कामयाब हो गए। गिरफ्तार आरोपी ने दिल्ली के सीमापुरी का किरायानामा तैयार कर यहां का आधार कार्ड बनवा लिया था। पुलिस को उसके पास से बांग्लादेश का पासपोर्ट बरामद हुआ है।

एसीपी विवेक सिंह ने बताया कि सोमवार रात बेहटा नहर पर चेकिंग के दौरान पुलिस ने स्कूटी सवार एक बांग्लोदशी युवक शहादत को गिरफ्तार किया। वह दिल्ली के सीमापुरी की झुग्गियों में रहता था और अपने साथियों के साथ मिलकर चोरी और नशीले पदार्थों की तस्करी करता था। आरोपी के खिलाफ दिल्ली के विभिन्न थानों में 15 मुकदमे दर्ज हैं। उसके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत भी कार्रवाई हो चुकी है। आरोपी से बरामद स्कूटी उसने अपने एक रिश्तेदार के नाम से ली हुई थी। सोमवार रात वह अपने दो साथी आरिफ और सुहैल उर्फ हुसैन के साथ बेहटा नहर पर चोरी की वारदात करने की नीयत से घूम रहा था। मौके से भागे उसके साथियों की तलाश की जा रही है। दोनों साथी भी सीमापुरी की झुग्गियों में रहते हैं।

पुलिस के अनुसार, शहादत जब भारत आया तो वह न तो यहां की भाषा जानता था और ना ही उसके पास यहां का कोई आईडी प्रूफ था। भारत आकर वह हिंदी बोलना सीख गया और आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने लगा।

पांच बार जेल गया, पर बांग्लादेशी होने का पता नहीं चला : एसीपी विवेक सिंह ने बताया कि शहादत दिल्ली के विभिन्न थानों से चार बार और एक बार गाजियाबाद के लिंक रोड थाने से जेल गया। पांचों बार वह कूटचरित तरीके से बनवाए गए आधार कार्ड के पते पर ही जमानत कराकर बाहर आता रहा, लेकिन पहली बार उसके बांग्लादेशी होने का पता चला।

कंटीले तारों के नीचे से आया आरोपी

शहादत ने बताया कि उसके पास पहले बांग्लादेश का पासपोर्ट नहीं था, इसलिए उसने बॉर्डर पर कंटीले तारों के नीचे से भारत में प्रवेश किया। इसके बाद उसने बांग्लादेश का पासपोर्ट बनवा लिया। उसका पासपोर्ट 31 अक्टूबर 2019 को बना और इसकी वैधता 30 अक्टूबर 2024 तक है।

लोनी विधायक ने विपक्ष पर निशाना साधा

इस मामले में लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर का एक वीडियो वायरल हुआ है। वीडियो में नंदकिशोर ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा कि उनकी पार्टी के दो विधायक वोट बैंक के लालच में बांग्लादेशियों को लाकर दिल्ली-एनसीआर में बसा रहे हैं। लोनी और दिल्ली में लगातार पकड़े जा रहे बांग्लादेशी इसका सबूत हैं। विधायक ने कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों पर भी निशाना साधा। उन्होंने दिल्ली-एनसीआर में 10 लाख बांग्लोदशी और रोहिंग्याओं के बसे होने का दावा करते हुए इन्हें वापस भेजने की मांग की है। बता दें कि हिन्दुस्तान इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें