ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRस्वाति मालीवाल के खिलाफ भर्ती घोटाले में केस, BJP ने किया ब्लैकमेल; AAP का नया दावा

स्वाति मालीवाल के खिलाफ भर्ती घोटाले में केस, BJP ने किया ब्लैकमेल; AAP का नया दावा

आतिशी ने कहा कि बीजेपी का यही तरीका है। वह विपक्ष के नेताओं पर केस करते हैं और उसी के आधार पर नेताओं को ब्लैकमेल करते हैं। स्वाति मालीवाल के साथ भी शायद ऐसा ही हुआ है।  

स्वाति मालीवाल के खिलाफ भर्ती घोटाले में केस, BJP ने किया ब्लैकमेल; AAP का नया दावा
Aditi Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 18 May 2024 12:53 PM
ऐप पर पढ़ें

आम आदमी पार्टी ने नया दावा किया है। आतिशी ने शनिवार को दावा किया है कि स्वाति मालीवाल के खिलाफ भर्ती घोटाले में केस चल रहा है और शायद इसलिए वह बीदेपी की साजिश का हिस्सा बनीं। उन्होंने कहा कि स्वाति मालीवाल के खिलाफ भर्ती घोटाले में केस चल रहा है। उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हो चुकी है। इसी के चलते वह बीजेपी की साजिश का हिस्सा बनीं। उन्होंने कहा, बीजेपी का यही तरीका है। वह विपक्ष के नेताओं पर केस करते हैं और उसी के आधार पर नेताओं को ब्लैकमेल करते हैं। स्वाति मालीवाल के साथ भी शायद ऐसा ही हुआ है।  

आतिशी ने कहा, DCW में कॉन्ट्रैक्ट पर कर्मचारियों की अवैध भर्ती को लेकर बीजेपी के एंटी करप्शन ब्यूरो ने स्वाति मालीवाल के खिलाफ केस दर्ज किया है। चार्जशीट दाखिल हो चुकी है और सजा का समय आ रहा है। हमारा मानना ​​है कि स्वाति मालीवाल को इस मामले का इस्तेमाल कर साजिश में शामिल किया जा रहा है।

पुलिस ने नहीं दी एफआईआर की कॉपी- आतिशी

उन्होंने आगे कहा, गृह मंत्रालय से लेकर दिल्ली पुलिस तक बीजेपी की पूरी मशीनरी किस तरह से काम कर रही है, ये कल तीस हजारी कोर्ट में देखने को मिला। कल पूरे दिन कोर्ट बिभव कुमार की मांग पर पुलिस से एफआईआर की कॉपी मांगता रहा, लेकिन कॉपी नहीं दी गई। कोर्ट ने आज सुबह तक का समय दिया था। आज दिल्ली पुलिस ने जवाब दिया है कि एफआईआर संवेदनशील है इसलिए इसे कोर्ट में जमा नहीं किया जा सकता और न ही आरोपी को दिया जा सकता है। यह एफआईआर बीजेपी की ओर से सभी मीडिया हाउस को भेज दी गई है लेकिन बीजेपी की पुलिस कह रही है कि हम इसे आरोपियों को नहीं दे सकते। 

सीएम आवास के वीडियो पर क्या बोलीं आतिशी

सीएम आवास के सामने आए दोनों वीडियो पर आतिशी ने कहा, वीडियो के शब्दों से साफ है कि यह उन पर हमला होने के ठीक बाद रिकॉर्ड किया गया था, जैसा कि वह दावा कर रही हैं। वीडियो में देखा जा सकता है कि न तो उनके कपड़े फटे हैं और न ही उन्हें दर्द हो रहा है। इस वीडियो से पता चलता है कि एफआईआर में जो कुछ भी लिखा गया है वह सब झूठ है। वह पुलिस को धमकी देती हुई नजर आ रही हैं।छ वह विभव कुमार के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल कर रही हैं। सीएम आवास के दरवाजे के सीसीटीवी फुटेज से पता चलता है कि वह आराम से सीएम आवास से बाहर जा रही हैं।