ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR'BJP को फायदा पहुंचाने के लिए साजिश रची', लवली पर कांग्रेस नेता का तीखा हमला

'BJP को फायदा पहुंचाने के लिए साजिश रची', लवली पर कांग्रेस नेता का तीखा हमला

अनिल सिंह ने कहा कि लवली ने इस्तीफे की जो टाइमिंग चुनी थी वो टाइमिंग बहुत ही गलत थी। इस टाइमिंग पर संदेह होता है कि अरविंदर सिंह लवली ने बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए यह षड़यंत्र रचा है।

'BJP को फायदा पहुंचाने के लिए साजिश रची', लवली पर कांग्रेस नेता का तीखा हमला
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 29 Apr 2024 08:57 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव में वोटिंग से कुछ दिनों पहले दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से अरविंद सिंह लवली के इस्तीफे से कांग्रेस पार्टी की अंदरुनी कलह सामने आ गई है। कांग्रेस के कई नेता अरविंदर सिंह लवली के इस कदम की निंदा कर रहे हैं और कह रहे हैं कि लवली ने गलत किया। अब कांग्रेस नेता अनिल सिंह ने अरविंद सिंह लवली पर आरोप लगाया है कि उन्होंने बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए लोकसभा चुनाव से पहले यह साजिश रची है। 

कांग्रेस नेता अनिल सिंह ने कहा कि अरविंद लवली ने इस्तीफे की जो टाइमिंग चुनी थी वो टाइमिंग बहुत ही गलत थी। इस टाइमिंग पर संदेह होता है कि अरविंदर सिंह लवली ने बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए यह षड़यंत्र रचा है। इससे पहले साल 2017 में जब एमसीडी का चुनाव था तब उस वक्त भी अरविंदर लवली छोड़ कर भाग गए थे। अब लोकसभा का चुनाव है। एक महीना बचा है और सभी तैयारियां हो चुकी हैं। राहुल गांधी और इंडिया गठबंधन लोकतंत्र और संविधान बचाने की लड़ाई लड़ रहा है। दूसरी तरफ अरविंद लवली अपने निजी स्वार्थ को आगे रख कर कांग्रेस पर आरोप लगा रहे हैं।

अनिल सिंह ने आगे कहा, 'मुझे लगता है कि अरविंद सिंह लवली ने पार्टी को ऐसे मोड़ पर ला कर खड़ा कर दिया कि उनका इस्तीफा मंजूर होना ही था। उन्होंने अनुशासनहीनता की हद पार कर दी है।' आपको बता दें कि इससे पहले अरविंद सिंह लवली ने हाल ही में एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा, 'मैंने अपने पद से इस्तीफा दिया है लेकिन ऐसा व्यवहार किया जा रहा है कि जैसे मैंने कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दिया हो।' अरविंदर सिंह लवली ने कहा, मैंने अपना खत मल्लिकार्जुन खड़गे को दिया था लेकिन खत लीक हो जाता है और दो घंट में मेरे इस्तीफे पर फैसला भी हो जाता है। कहीं ना कहीं आपको सोचना पड़ेगा कि आखिर चल क्या रहा है?'