ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRकेजरीवाल के घर ED की रेड और फिर होगी गिरफ्तारी; आधी रात AAP नेताओं ने किया दावा

केजरीवाल के घर ED की रेड और फिर होगी गिरफ्तारी; आधी रात AAP नेताओं ने किया दावा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तीसरी बार भी ईडी के सामने पेश नहीं हुए। अब आप मंत्रियों ने गुरुवार को उनके आवास पर ईडी रेड की संभावना जताई है। साथ ही अपना पुराना डर जाहिर किया है।

केजरीवाल के घर ED की रेड और फिर होगी गिरफ्तारी; आधी रात AAP नेताओं ने किया दावा
Sneha Baluniहिन्दुस्तान टाइम्स,नई दिल्लीThu, 04 Jan 2024 08:04 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तीसरे समन पर भी प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पूछताछ के लिए पेश नहीं हुए। इसे लेकर जुबानी आप और बीजेपी में खूब जुबानी तीर चल रहे हैं। अब दो मंत्रियों आतिशी और सौरभ भारद्वाज ने बुधवार देर रात दावा किया कि उनके पास सूचना है कि ईडी गुरुवार सुबह केजरीवाल के आवास पर छापा मारेगी और फिर दिल्ली सीएम को गिरफ्तार किए जाने की संभावना है। गुरुवार सुबह सीएम आवास की सुरक्षा बढ़ाई गई है। दिल्ली पुलिस के जवानों ने सड़क को ब्लॉक कर दिया है।

आतिशी ने देर रात 11.50 पर एक्स पर लिखा, 'खबर आ रही है कि ईजी आज सुबह अरविंद केजरीवाल के आवास पर छापेमारी करने वाली है। गिरफ्तारी की संभावना है। दो मिनट पर स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने सोशल मीडिया पर लिखा, 'सुनने में आ रहा है कल सुबह मुख्यमंत्री केजरीवाल जी के घर ईडी पहुंच कर उन्हें गिरफ़्तार करने वाली है।' दिल्ली में कथित शराब घोटाले के संबंध में तीसरी बार केजरीवाल को ईडी ने समन भेजकर पूछताछ के लिए पेश होने को कहा था। मगर समन को नजरअंदाज करते हुए सीएम ने एजेंसी को जवाब भेज दिया। उन्होंने नोटिस को अवैध बताया। इसे लेकर बीजेपी ने केजरीवाल पर जमकर हल्ला बोला।

बीजेपी ने ट्वीट कर कहा, 'अरविंद केजरीवाल किससे डर रहे हैं? क्या उन्होंने मनीष सिसौदिया और संजय सिंह को छोड़ दिया है, जो शराब घोटाले में जेल में बंद हैं। केजरीवाल को ईडी के समन से बचने के बजाय, आई.एन.डी.आई. गठबंधन के नेताओं के किए भ्रष्टाचार से सबक लेना चाहिए, जो उन्हें अपने अनुभव के बारे में बता सकते हैं।'  बीजेपी नेताओं ने पूछा कि अगर उन्हें ईडी का समन अवैध लगता है तो वह अदालत का दरवाजा क्यों नहीं खटखटा रहे हैं।

कब-कब समन पर नहीं हुए पेश

केजरीवाल दिवाली से पहले दिल्ली में प्रशासनिक कर्तव्यों और मध्य प्रदेश में चुनाव प्रचार का हवाला देते हुए 2 नवंबर को ईडी के सामने पेश नहीं हुए थे। दूसरी बार उन्हें 21 दिसंबर को पेश होने के लिए समन भेजा गया, मगर तब उन्होंने विपश्यना का हवाला देकर इनकार कर दिया। तीन दिसंबर को एजेंसी के सामने उपस्थित होने की बजाय उन्होंने जवाब भेज दिया। जिसमें नोटिस को अवैध बताया। साथ ही कहा कि वे राज्यसभा चुनाव में व्यस्त हैं और अगर ईडी प्रश्न भेजती है तो वह उसका जवाब देने के लिए तैयार हैं। केजरीवाल ने कहा कि एजेंसी ने उनके पहले के पत्रों का जवाब नहीं दिया जिसमें उन्होंने समन को लेकर ज्यादा जानकारी मांगी थी कि ताकि पता चल सके कि उन्हें क्यों बुलाया जा रहा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें