ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRआतिशी को कोर्ट ने बुलाया, केजरीवाल को सताने लगा मंत्री की गिरफ्तारी का डर; क्या बोले

आतिशी को कोर्ट ने बुलाया, केजरीवाल को सताने लगा मंत्री की गिरफ्तारी का डर; क्या बोले

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता की ओर से दायर मानहानि केस में दिल्ली सरकार की मंत्री आतिशी को अदालत ने 29 जून को तलब किया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आतिशी की गिरफ्तारी की आशंका जाहिर की है।

आतिशी को कोर्ट ने बुलाया, केजरीवाल को सताने लगा मंत्री की गिरफ्तारी का डर; क्या बोले
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 28 May 2024 06:44 PM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता की ओर से दायर मानहानि केस में दिल्ली सरकार की मंत्री आतिशी को अदालत ने नोटिस जारी किया है। अदालत ने आतिशी को 29 जून को तलब किया है। समन जारी होने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आतिशी की गिरफ्तारी की आशंका जाहिर की है। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक ने कहा कि उन्होंने पहले ही कहा था कि अब आतिशी की गिरफ्तारी होगी और इसकी प्लानिंग की जा रही है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आतिशी की गिरफ्तारी की आशंका जाहिर करते हुए मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, 'मैंने पहले कहा था कि अब वह आतिशी को गिरफ्तार करेंगे। अब वह ऐसा करने की सोच रहे हैं। पूरी तरह तानाशाही है। पूरी तरह कमजोर, ओछे और झूठे केसों में वे आम आदमी पार्टी के नेताओं को एक के बाद एक गिरफ्तार कर रहे हैं।' केजरीवाल ने आगे यह भी कहा कि यदि मोदी जी सत्ता में आए तो विपक्ष के हर नेता को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा, 'आम आदमी पार्टी महत्वपूर्ण नहीं है, तानाशाही को हमारे प्यारे देश को बचाना महत्वपूर्ण है।'

कथित शराब घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में अंतरिम जमानत पर चल रहे अरविंद केजरीवाल मोदी सरकार पर उनकी पार्टी को खत्म करने की साजिश का आरोप लगाते रहे हैं। केजरीवाल के अलावा उनके दाएं हाथ कहे जाने वाले मनीष सिसोदिया भी एक साल से अधिक समय से जेल में बंद हैं। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन भी जेल में हैं तो राज्यसभा सांसद संजय सिंह अभी जमानत पर बाहर हैं। इन नेताओं की गिरफ्तारी के बाद सरकार का अधिकतर कामकाज आतिशी ही देख रही हैं। उनके पास दिल्ली सरकार के सबसे अधिक और महत्वपूर्ण मंत्रालय हैं।

आतिशी के तेवर नरम नहीं
दिल्ली सरकार की मंत्री और आप की वरिष्ठ नेता आतिशी को मानहानि केस में राउज एवेन्यू कोर्ट ने तलब किया है। कोर्ट ने उन्हें 29 जून को पेश होकर अपना पक्ष रखने को कहा है। हालांकि, नोटिस के बाद भी आतिशी के तेवर नरम नहीं दिख रहे हैं। मंगलवार को एक बार फिर उन्होंने कहा कि भाजपा ऑपरेशन लोटस जगजाहिर है और इस पर उसे जवाब देना चाहिए। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जब उनसे समन को लेकर सवाल किया गया तो वह भाजपा पर भड़क उठीं।

आतिशी ने कहा, 'मैं भाजपा से यह जानना चाहती हूं कि उन्होंने गोवा, मणिपुर, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश में बिना बहुमत के सरकार कैसे बनाई। कैसे विधायक दूसरी विपक्षी पार्टियों से भाजपा में पहुंच जाते हैं इसका जवाब उसे देना होगा। उसे यह भी बताना होगा कि ऐसा कैसे हो जाता है कि एनसीपी के दो फाड़ हो जाते हैं और उनके सारे नेता जो भाजपा में आते हैं उनके सीबीआई और ईडी के केस बंद हो जाते हैं। ऑपरेशन लोटस भाजपा का जगजाहिर है। इस बात का जवाब आम आदमी पार्टी को नहीं देना है, आम आदमी पार्टी को देना है कि कैसे बिना बहुमत पाए भारतीय जनता पार्टी अलग अलग राज्यों में सरकार बनाती है।'

कोर्ट ने केजरीवाल को दी राहत, आतिशी को बुलाया
दिल्ली भाजपा के मीडिया प्रमुख प्रवीण शंकर कपूर ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आतिशी पर मानहानि वाले बयानों का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के नेताओं ने यह कहकर भाजपा की छवि खराब करने की कोशिश की है कि उनके नेताओं को 20-30 करोड़ रुपए का ऑफर दिया गया है। अडिशनल चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट तान्या बमनियाल ने कहा कि प्रथम दृष्टया मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ केस नहीं बनता है। उन्होंने कहा कि आतिशी को तलब किए जाने के पर्याप्त आधार मौजूद हैं।