ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदहेज की मांग नहीं हुई पूरी, आर्मी अफसर ने पत्नी को जबरन खिलाया जहर

दहेज की मांग नहीं हुई पूरी, आर्मी अफसर ने पत्नी को जबरन खिलाया जहर

गुरुग्राम में पुलिस ने आर्मी अफसर सहित दो लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। अफसर पर अपनी पत्नी की पिटाई करने और जबरन जहर खिलाने का आरोप है। पुलिस ने उन्हें समन देकर थाने बुलाया है।

दहेज की मांग नहीं हुई पूरी, आर्मी अफसर ने पत्नी को जबरन खिलाया जहर
Sneha Baluniलाइव हिन्दुस्तान,गुरुग्रामTue, 27 Feb 2024 03:07 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली से सटे गुड़गांव में दहेज के लिए एक पति हैवान बन गया। पति और ससुराल वालों ने पत्नी को जहर खाने के लिए मजबूर किया। पुलिस ने बताया कि घटना रविवार को घटित हुई। दो आरोपियों पर मामला दर्ज किया गया है। रेवाड़ी के जौनावास निवासी पीड़िता की शिकायत के आधार पर, उसके पति, जो एक सेना अधिकारी है, और उसके पिता के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

पुलिस के मुताबिक, घटना रविवार सुबह करीब चार बजे की है, जब पीड़िता को उसकी सास ने चाय बनाने के लिए कहा। इसपर उनमें बहस हो गई और बात काफी बढ़ गई। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि वे तथ्यों की पुष्टि कर रहे हैं और मामले पर कानून के अनुसार कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने कहा कि रविवार को गुरुग्राम में एक महिला के साथ उसके पति और ससुराल वालों ने कथित तौर पर मारपीट की और उसे जहर खाने के लिए मजबूर किया। पुलिस ने बताया कि दो आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

पीड़िता ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया, 'मेरे ससुर ने मुझे बुरी तरह पीटने की धमकी देते हुए कहा कि वे आज (रविवार) मुझे पीट-पीटकर मार डालेंगे। तभी मेरे पति ने मेरे पैर पकड़ लिए, मेरे ससुर ने मेरे हाथ पकड़े और मेरी सास के कहने पर पति ने मुझे एक लिक्विड दवा खाने के लिए मजबूर किया। मैंने उसमें से कुछ पी ली और बाकी को बाहर निकाल दिया। फिर उन्होंने मुझे कमर और हाथों पर बेल्ट से पीटा। मैं वहां से किसी तरह भागने में सफल रही और 112 (पुलिस नियंत्रण कक्ष) पर कॉल किया। मुझे पटौदी अस्पताल में भर्ती कराया गया और फिर आगे के इलाज के लिए गुरुग्राम के सिविल अस्पताल रेफर कर दिया गया।'

पुलिस ने बताया कि उन्हें घटना की जानकारी रविवार सुबह छह बजे मिली। डॉक्टर्स ने महिला को चोटों और 'जबरदस्ती जहर' देने की रिपोर्ट की। जिसके बाद पति और उसके पिता पर भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 328 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। अपने साथ सालों से हो रही मारपीट के अनुभव को साझा करते हुए महिला ने आरोप लगाया, 'मेरी 7 मार्च 2014 को शादी हुई थी। मेरे दो बच्चे हैं, जिनकी उम्र आठ और छह साल है। मेरे ससुराल वाले शुरुआती दिनों से ही मुझे परेशान करते रहे हैं। मेरे चरित्र के बारे में बात करना, मेरे परिवार के लिए अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करना और हर समय दहेज की मांग करना। शादी के बाद उन्होंने मेरे सारे गहने छीन लिए, मुझे लगातार शारीरिक शोषण का सामना करना पड़ा।'

पीड़ित महिला ने आगे बताया, 'जब मैंने अपने पिता से शिकायत की, तो सभी ने मुझे अपने बच्चों की खुशी की खातिर चुपचाप सबकुछ सहने की सलाह दी। हालांकि, समय के साथ यह और भी बदतर हो गया।' इस मामले के जांच अधिकारी सब-इंस्पेक्टर रजाक खान ने कहा कि आगे की जांच चल रही है और 'जहर' का नमूना एफएसएल को भेजा गया है। उन्होंने कहा, 'हमने दो लोगों को पुलिस स्टेशन बुलाया है।'

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें