DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जुड़ेगा दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे, मिली मंजूरी
एनसीआर

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जुड़ेगा दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे, मिली मंजूरी

हिन्दुस्तान टीम, नोएडाPublished By: Shivendra Singh
Wed, 01 Sep 2021 04:40 PM
नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जुड़ेगा दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे, मिली मंजूरी

दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे को जेवर में बनने वाले इंटरनेशनल एयरपोर्ट से जोड़ने की सैद्धांतिक मंजूरी मिली गई है। इसके साथ ही जेवर एयरपोर्ट को एक और कनेक्टिविटी मिल जाएगी। बल्लभगढ़ से जेवर तक 31 किलोमीटर हाईवे बनाया जाएगा जिसमें 24 किलोमीटर का हिस्सा हरियाणा में और 7 किलोमीटर का हिस्सा उत्तर प्रदेश में होगा। एनएचएआई ने हरियाणा के हिस्से की जमीन खरीदने की सहमति दे दी है जबकि उत्तर प्रदेश अपने हिस्से की जमीन खरीदकर देगा। 

हरियाणा के बल्लभगढ़ से जेवर तक बनने वाले इस 31 किलोमीटर हाईवे का खर्च दोनों राज्यों की सरकार आधा-आधा वहन करेंगी। इससे पहले जिस राज्य में जितनी जमीन आती है, वहां की सरकार को उतना खर्च वहन करने का प्रस्ताव था, लेकिन हरियाणा सरकार इससे सहमत नहीं थी। हरियाणा क्षेत्र में 24 किमी और उत्तर प्रदेश में सात किमी का क्षेत्र है। हरियाणा सरकार का कहना था कि जेवर में एयरपोर्ट बनने के कारण एक्सप्रेसवे का अधिक लाभ उत्तर प्रदेश सरकार को होगा। इस कारण हरियाणा सरकार ने इस पर सहमति नहीं जताई थी। अब सूत्रों का कहना है कि उत्तर प्रदेश और हरियाणा सरकार एक्सप्रेसवे के आधे-आधे खर्च पर राजी हो गई हैं।

आना-जाना होगा आसान
इससे जेवर और दिल्ली एयरपोर्ट एक दूसरे से जुड़ जाएंगे। दोनों एयरपोर्ट की दूरी करीब 123 किलोमीटर है। यह दूरी 55 मिनट में पूरी होगी। यानी दोनों एयरपोर्ट को एक दूसरे से जोड़ने का एक और विकल्प तैयार होगा। इससे दोनों एयरपोर्ट की आवाजाही आसानी से हो सकेगी।

पहले ये प्रस्ताव बने थे
- दिल्ली मुंबई एक्सप्रेसवे को जोड़ने का प्रस्ताव रखा गया था कि हरियाणा और यूपी सरकार अपने-अपने हिस्से की जमीन खरीदे। निर्माण कार्य एनएचएआई करे, लेकिन इस पर हरियाणा सरकार राजी नहीं हुई थी। हरियाणा सरकार का तर्क था कि इसका उपयोग यूपी अधिक करेगा। इसलिए पैसा उत्तर प्रदेश सरकार को ही खर्च करना चाहिए।
- इसके बाद प्रस्ताव बना कि हरियाणा के हिस्से में आ रही जमीन का आधा पैसा उत्तर प्रदेश और आधा पैसा हरियाणा सरकार दे, लेकिन इस पर भी सहमति नहीं बन पाई। अब हरियाणा की हिस्से की जमीन एनएचआई खरीदेगा। इससे सारी बाधाएं दूर हो गई हैं।

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे को जेवर एयरपोर्ट से जोड़ने की सैद्धांतिक मंजूरी मिल गई है। 31 किलोमीटर का हिस्सा एनएचएआई बनाएगा। इसमें हरियाणा के हिस्से की जमीन एनएचएआई खरीदेगा। इसके बनने से जेवर व दिल्ली एयरपोर्ट आना-जाना आसान हो जाएगा। - डॉ. अरुणवीर सिंह, सीईओ यमुना प्राधिकरण

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे पर 2023 में कर सकेंगे सफर
केंद्र सरकार का पिछले महीने दावा है कि आठ लेन वाला दिल्ली-मुंबई ग्रीन फील्ड एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य 2023 में पूरा कर लिया जाएगा। वर्तमान में 350 किलोमीटर एक्सप्रेस-वे का काम पूरा कर लिया गया है और 825 किलोमीटर पर कार्य प्रगति पर है। नए एक्सप्रेस-वे के बनने से दिल्ली से मुंबई सड़क मार्ग की दूरी कम हो जाएगी। वर्तमान में दिल्ली-मुंबई की सड़क से 1450 किलोमीटर की दूरी है। नए एक्सप्रेस-वे से यह दूरी घटकर 1350 रह जाएगी।

संबंधित खबरें