ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRभीषण गर्मी से दिल्ली में बढ़ती जा रही बिजली की मांग, बन गया डिमांड का नया रिकॉर्ड?

भीषण गर्मी से दिल्ली में बढ़ती जा रही बिजली की मांग, बन गया डिमांड का नया रिकॉर्ड?

बिजली वितरण कंपनियों के अधिकारियों ने बताया कि इस साल 22 मई से अबतक दिल्ली में अधिकतम बिजली की मांग आठ बार 8,000 मेगावाट से अधिक रही है। बिजली की अधिकतम मांग 22 मई को पहली बार 8k मेगावाट तक पहुंची थी।

भीषण गर्मी से दिल्ली में बढ़ती जा रही बिजली की मांग, बन गया डिमांड का नया रिकॉर्ड?
Sourabh Jainभाषा,नई दिल्लीTue, 18 Jun 2024 05:35 PM
ऐप पर पढ़ें

तपती गर्मी और लू के थपेड़ों के बीच मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी में बिजली की अधिकतम मांग 8,647 मेगावाट पर पहुंच गई, जो इसका अबतक का उच्चतम स्तर है। बिजली वितरण कंपनियों के अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी। दिल्ली में बिजली की अधिकतम मांग का पिछला रिकॉर्ड इसी साल 29 मई को बना था जब 8,302 मेगावाट की मांग आई थी। दिल्ली में बिजली की अधिकतम मांग 22 मई, 2024 को पहली बार 8,000 मेगावाट तक पहुंची थी।

दिल्ली में बिजली की मांग का आंकड़ा दर्ज करने वाले स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर (SLDC) के मुताबिक, भीषण गर्मी का दौर राजधानी की बिजली मांग को लगातार बढ़ाता जा रहा है। बिजली की मांग मंगलवार दोपहर तीन बजकर 22 मिनट पर 8,647 मेगावाट तक पहुंच गई। दरअसल भीषण गर्मी के बीच एयर कंडीशनर और कूलर का इस्तेमाल बढ़ने से राष्ट्रीय राजधानी में बिजली की मांग में रिकॉर्ड वृद्धि हुई है।

बिजली वितरण कंपनियों (डिस्कॉम) के अधिकारियों ने बताया कि इस साल 22 मई से अबतक दिल्ली में अधिकतम बिजली मांग आठ बार 8,000 मेगावाट से अधिक रही है। इस बारे में बताते हुए डिस्कॉम कंपनी के एक अधिकारी ने कहा, 'बिजली की मांग में वृद्धि का कारण प्रतिकूल मौसम की स्थिति हो सकती है। इसकी वजह से लोगों ने एयर कंडीशनर और अन्य ठंडक देने वाले उपकरणों का अधिक इस्तेमाल किया, जिससे बिजली की खपत बढ़ गई। अनुमान है कि एयर कंडीशनिंग की घरेलू और कमर्शियल बिजली खपत में 30 से 50 प्रतिशत का योगदान हो सकता है।'

मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम तापमान 33.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य औसत से छह डिग्री सेल्सियस अधिक है। मौसम विभाग के मुताबिक, अधिकतम तापमान पिछले कई दिनों से लगातार 45 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना हुआ है।