अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गाजियाबाद शहर में प्रदूषण पर नजर रखने के लिए प्रशासन ने उठाया ये कदम

राजनगर एक्सटेंशन रोटरी पर लगाए गए प्रदूषण मात्रा सूचकांक बोर्ड का उद्धघाटन करतीं कल्पना अवस्थी

1 / 2राजनगर एक्सटेंशन रोटरी पर लगाए गए प्रदूषण मात्रा सूचकांक बोर्ड का उद्धघाटन करतीं कल्पना अवस्थी

राजनगर एक्सटेंशन रोटरी पर लगाए गए प्रदूषण मात्रा सूचकांक बोर्ड का उद्धघाटन करतीं कल्पना अवस्थी

2 / 2राजनगर एक्सटेंशन रोटरी पर लगाए गए प्रदूषण मात्रा सूचकांक बोर्ड का उद्धघाटन करतीं आबकारी एवं वन पर्यावरण प्रमुख सचिव कल्पना अवस्थी

PreviousNext

आबकारी एवं वन पर्यावरण प्रमुख सचिव कल्पना अवस्थी ने मंगलवार सुबह गाजियाबाद के राजनगर एक्सटेंशन रोटरी पर लगाए गए प्रदूषण मात्रा सूचकांक बोर्ड का उद्धघाटन किया। यह बोर्ड जिले में प्रदूषण की मात्रा को दर्शाएंगे। शहर में पांच जगह ऐसे बोर्ड लगाए जाने हैं। इनमे से तीन स्थानों पर बोर्ड लगा दिए गए हैं।

ये बोर्ड पीएम 2.5 व पीएम 10 सहित सभी प्रकार की मात्राएं प्रदर्शित करंगे। इससे लोगों को शहर के प्रदूषण स्तर की जानकारी प्रतिदिन मिलती रहेगी। साथ ही वायु प्रदूषण से होने वाले दुष्प्रभावों की जानकारी भी डिस्प्ले बोर्ड पर प्रदशित होती रहेगी।

कल्पना अवस्थी ने कहा कि शहर को स्वच्छ व सुंदर रखना उनकी प्राथमिकता पर है। इसे लिए विशेष कार्य किए जाएंगे। जहां-जहां भी धूल उड़ने की समस्या है उन जगहों पर इंटरलॉकिंग टाइल्स लगवाई जाएंगी।

शहर को स्वच्छ रखने के लिए सड़कों की सफाई कराई जाएगी। वन क्षेत्र को बढ़ाया जायगा व ग्रीन बेल्ट का विशेष ध्यान रखा जाएगा। हिंडन की सफाई पर उन्होंने कहा कि जिस तरह मुज़फ्फरनगर नगर में सलोनी गंगा नंदी की सफाई की गई है, उसी तर्ज पर हिंडन की सफाई पर ध्यान दिया जाएगा। इस मामले में वे प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के साथ एक बैठक करेंगी। उन्होंने कहा कि सॉलिड वेस्ट से बायो गैस बनाने पर भी ध्यान दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Administration has taken this steps to monitor the pollution in Ghaziabad city