ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली जल बोर्ड में भ्रष्टाचार से मिली रिश्वत की रकम चुनावी कोष के तौर पर AAP को दी गई, ईडी का दावा

दिल्ली जल बोर्ड में भ्रष्टाचार से मिली रिश्वत की रकम चुनावी कोष के तौर पर AAP को दी गई, ईडी का दावा

ईडी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निजी सहायक बिभव कुमार, आप के राज्यसभा सदस्य एन.डी. गुप्ता और अन्य लोगों के परिसरों की मंगलवार को तलाशी ली थी।

दिल्ली जल बोर्ड में भ्रष्टाचार से मिली रिश्वत की रकम चुनावी कोष के तौर पर  AAP को दी गई, ईडी का दावा
Swati Kumariभाषा,नई दिल्लीThu, 08 Feb 2024 12:06 AM
ऐप पर पढ़ें

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार को आरोप लगाया कि जल बोर्ड घोटाले का पैसा 'आप' नेताओं को दिया गया। पैसा आम आदमी पार्टी के इलेक्शन फंड के लिए भी दिया गया। संघीय एजेंसी ने एक बयान में कहा कि डीजेबी से जुड़े कथित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में मंगलवार की छापेमारी के बाद 1.97 करोड़ रुपये मूल्य का सामान और चार लाख रुपये की विदेशी मुद्रा जब्त की गई।

इसने कहा कि छापेमारी के दौरान आपत्तिजनक दस्तावेज और डाटा भी जब्त किए गए। ईडी ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निजी सहायक बिभव कुमार, आप के राज्यसभा सदस्य एन.डी. गुप्ता और अन्य लोगों के परिसरों की मंगलवार को तलाशी ली थी।

एजेंसी ने कहा कि गिरफ्तार किए गए डीजेबी के पूर्व मुख्य अभियंता जगदीश कुमार अरोड़ा ने 'एनकेजी इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड' नामक कंपनी को डीजेबी का ठेका देने के बाद ''रिश्वत'' की रकम नकद और बैंक खातों में प्राप्त की थी और उन्होंने इस पैसे को डीजेबी के मामलों का प्रबंधन करने वाले विभिन्न व्यक्तियों और आप से जुड़े लोगों को भी दिया।

ईडी ने दावा किया, ''रिश्वत की रकम आप को चुनावी कोष के तौर पर भी दी गई।'' इससे पहले दिन में दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने दावा किया कि ईडी की टीम बिभव कुमार के घर से दो जीमेल खातों के कुछ डाउनलोड और परिवार के तीन फोन अपने साथ ले गई। 

वहीं, दिल्ली सरकार की शिक्षा मंत्री और आप नेता आतिशी ने बुधवार को फिर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की छापेमारी को लेकर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि ईडी ने मंगलवार को सीएम अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव विभव कुमार और आप सांसद एनडी गुप्ता के यहां करीब 16 घंटे छापेमारी की, लेकिन यह नहीं बताया कि किस केस में छापेमारी की गई। उन्होंने दावा कि इन लोगों से न तो पूछताछ हुई और न ही घर की तलाशी ली गई। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या यह कार्रवाई सिर्फ अरविंद केजरीवाल की छवि खराब करने के लिए की गई। 

सीएम की छवि खराब करने का प्रयास : जास्मिन शाह 
आप नेता जास्मिन शाह ने कहा कि छापेमारी से पता चलता है कि भाजपा हताश हो चुकी है। बीते दो साल से फर्जी शराब घोटाले में जांच कर रही है। आज तक एक रुपये की न तो बरामदगी हुई और न ही कोई सबूत मिला। जब कुछ नहीं मिला तो सिर्फ अरविंद केजरीवाल की छवि खराब करने के लिए छापेमारी की गई। उन्होंने कहा कि ईडी के अधिकारियों को यह भी पता नहीं कि वह छापेमारी किस मामले में कर रहे हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें