ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRआपका बयान सरासर झूठ है; अरविंद केजरीवाल का इंसुलिन पर तिहाड़ सुपरिंटेंडेंट को लेटर

आपका बयान सरासर झूठ है; अरविंद केजरीवाल का इंसुलिन पर तिहाड़ सुपरिंटेंडेंट को लेटर

आम आदमी पार्टी के सूत्रों का दावा है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने तिहाड़ जेल के अधीक्षक को पत्र लिखकर कहा है कि उनको रोजाना इंसुलिन उपलब्ध कराई जानी चाहिए।

आपका बयान सरासर झूठ है; अरविंद केजरीवाल का इंसुलिन पर तिहाड़ सुपरिंटेंडेंट को लेटर
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 22 Apr 2024 02:45 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने तिहाड़ जेल के अधीक्षक को पत्र लिखकर कहा है कि उनको रोजाना इंसुलिन उपलब्ध कराई जाए। आम आदमी पार्टी के सूत्रों ने यह जानकारी दी है। सनद रहे एक दिन पहले ही तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने बताया था कि केजरीवाल को डॉक्टरी सलाह मुहैया कराने के लिए उनकी एम्स के विशेषज्ञों के साथ वीडियो कांफ्रेंस पर बात कराई गई थी। अधिकारियों का दावा था कि इसमें केजरीवाल ने इंसुलिन के मुद्दे पर बात नहीं की थी। 

यह नहीं अरविंद केजरीवाल ने अपने स्वास्थ्य के मसले पर तिहाड़ जेल प्रशासन के बयानों पर निराशा जताई है। उन्होंने कहा है कि वह शुगर के मरीज हैं इस वजह से रोजाना इंसुलिन की मांग पहले से कर रहे हैं। आप सूत्रों ने बताया कि केजरीवाल का कहना है कि अखबार में छपा तिहाड़ जेल प्रशासन का बयान गलत है। यह सरासर झूठ है कि मैंने डॉक्टरों के साथ बातचीत में इन्सुलिन का मुद्दा कभी नहीं उठाया है। 

केजरीवाल ने कहा है कि मैं पिछले 10 दिन से लगातार इन्सुलिन का मुद्दा उठा रहा हूं, दिन में कई बार उठा रहा हूं। मुझको देखने के लिए जब भी कोई डॉक्टर आया तो मैंने बताया कि मेरा शुगर लेवल बहुत हाई है। मैंने ग्लूको-मीटर की रीडिंग दिखाकर बताया कि दिन में 3 बार पीक आती है। इस दौरान शुगर लेवल 250-320 के बीच चला जाता है। मैंने बताया कि फास्टिंग का शुगर लेवल रोज़ 160 से 200 के बीच आ रहा है।

केजरीवाल ने पत्र में कहा- मैंने रोज इन्सुलिन की मांग की है ऐसे में आप झूठा बयान कैसे दे सकते हैं कि केजरीवाल ने कभी इन्सुलिन का मुद्दा उठाया ही नहीं? आपका यह बयान भी झूठा है कि AIIMS के डॉक्टर ने आश्वस्त किया है कि कोई चिंता की बात नहीं है। AIIMS के डॉक्टरों ने ऐसी कोई बात नहीं कही है। उन्होंने शुगर लेवल का और मेरे स्वास्थ्य से जुड़ा पूरा डाटा मांगा और कहा कि आंकड़े को देखने और विश्लेषण करने के बाद वे अपनी राय देंगे। 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तिहाड़ जेल के अधीक्षक को लिखे पत्र में यह भी कहा है कि मुझे बहुत दुख है कि आपने राजनैतिक दबाव में आ कर झूठे और गलत बयान दिये हैं। मैं उम्मीद करता हूं कि आप कानून और संविधान का पालन करेंगे। इससे पहले, तिहाड़ जेल के आधिकारिक सूत्रों ने दावा किया था कि केजरीवाल को 20 अप्रैल को एम्स के डॉक्टरों के साथ वीडियो परामर्श उपलब्ध कराया गया था। सूत्र ने यह भी दावा किया था कि डॉक्टरों ने कहा है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री को कोई गंभीर स्वास्थ्य चिंता नहीं है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें