ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRAAP विधायक प्रकाश जारवाल का विवादों से है पुराना नाता, विधायिकी पर खतरा; कोर्ट के फैसले का इंतजार

AAP विधायक प्रकाश जारवाल का विवादों से है पुराना नाता, विधायिकी पर खतरा; कोर्ट के फैसले का इंतजार

डॉक्टर को आत्महत्या के लिए उकसाने वाले आप विधायक प्रकाश जारवाल की विधायकी पर खतरा मंडरा रहा है। यदि कोर्ट उन्हें 24 माह तक की सजा सुनाती है तो उनकी सदन की सदस्यता बर्खास्त कर दी जाएगी।

AAP विधायक प्रकाश जारवाल का विवादों से है पुराना नाता, विधायिकी पर खतरा; कोर्ट के फैसले का इंतजार
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 29 Feb 2024 06:09 AM
ऐप पर पढ़ें

आत्महत्या के मामले में दोषी करार दिए गए प्रकाश जारवाल पर विधायकी जाने का खतरा मंडरा रहा है। उन्हें भारतीय दंड संहिता की धारा 306, 386, 120 बी और 506 के तहत दोषी करार दिया गया है। ऐसे में अधिकतम सजा 10 वर्ष तक की हो सकती है। वहीं, अदालत जुर्माना और अन्य धाराओं में सजा भी अलग-अलग भुगतने के लिए कह सकती है। 24 माह तक की सजा होने पर लोकसेवक की सदन की सदस्यता छिन जाती है।

ग्लोबल लॉयर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के चेयरमैन और वरिष्ठ अधिवक्ता एके बाजपेई ने बताया कि 24 माह तक सजा पर लोकसेवक की सदन की सदस्यता बर्खास्त कर दी जाती है। हाल ही में पूर्व कांग्रेस नेता राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता दो वर्ष की सजा होने पर समाप्त हो गई थी। हालांकि, उच्च न्यायालय में आदेश को चुनौती दिए जाने के बाद हाईकोर्ट यदि सजा पर रोक लगा देता है तो उच्च न्यायालय की सुनवाई पूरी होने तक सदस्यता बनी रहेगी। बता दें इस मामले में अदालत 13 मार्च को सजा पर सुनवाई करेगी।

हाईकोर्ट में अपील करेंगे 

बचाव पक्ष के वकील रवि दराल ने बताया कि इस मामले में सत्र न्यायालय के आदेश के खिलाफ उच्च न्यायालय में अपील की जाएगी। दराल ने बताया कि पुलिस द्वारा जिस धमकी भरे फोन की बात की जा रही है उसे कोर्ट में साबित नहीं किया जा सका है। पुलिस द्वारा पेश मोबाइल फोन को भी गवाहों द्वारा नकारा गया है। पुलिस जिस डायरी का हवाला देकर विधायक पर आरोप लगा रही है उसमें सात अन्य नाम भी मिले हैं, लेकिन पुलिस ने केवल कुछ लोगों को ही आरोपी बनाया है।

विवादों से रहा है पुराना नाता

जारवाल वर्ष 2017 से ही विवादों में रहे हैं। सबसे पहले देवली विधानसभा की ही रहने वाली एक महिला ने उन पर उत्पीड़न के आरोप लगे थे। इसके बाद 2018 में उन पर दिल्ली के तत्कालीन मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मारपीट करने का आरोप लगा था।

दोषी विधायक को तत्काल निष्कासित करें

आम आदमी पार्टी विधायक प्रकाश जारवाल को अदालत द्वारा एक डॉक्टर की आत्महत्या के मामले में दोषी ठहराए जाने पर दिल्ली भाजपा ने सवाल उठाए हैं। पार्टी नेताओं ने विधायक को तत्काल निष्कासित करने की मांग की। बुधवार को दिल्ली भाजपा की तरफ से इस मुद्दे पर प्रेस कांफ्रेंस की गई, जिसमें प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा व विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि हत्या का दोषी करार दिए जाने के बाद अब उनकी विधानसभा सदस्यता खत्म होना तय है। 

उन्होंने मांग उठाई कि दोषी विधायक को पार्टी से निष्कासित करना चाहिए। इसके साथ ही, पार्टी को उन सभी विधायकों और नेताओं पर भी कार्रवाई करनी चाहिए, जिन पर कोर्ट में मुकदमे चल रहे हैं, क्योंकि पार्टी जिस ईमानदारी के दावे के सात सत्ता में आई वो अब दिखाई नहीं देती है। इस मौके पर मीडिया प्रमुख प्रवीण शंकर कपूर व मीडिया रिलेशन प्रमुख विक्रम मित्तल भी मौजूद रहे।

पूनावाला ने निशाना साधा

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा, आज आप का मतलब आम आदमी पार्टी नहीं है, बल्कि इसका मतलब अराजकतावादी अपराधिक पार्टी है। उन्हें न सिर्फ आत्महत्या के लिए उकसाने, बल्कि जबरन वसूली के आरोप में भी दोषी ठहराया गया है। इसका मतलब साफ है कि आप का चरित्र आपराधिक पृष्ठभूमि का है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें