ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRदिल्ली में पानी संकट को AAP ने NEET से कैसे जोड़ा, किया साजिश का दावा

दिल्ली में पानी संकट को AAP ने NEET से कैसे जोड़ा, किया साजिश का दावा

नीट परीक्षा में घोटाले और धांधली का आरोप लगाते हुए आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को बड़ा प्रदर्शन किया। पार्टी के मंत्री, विधायक और नेता जंतर-मंतर पर जुटे। सौरभ भारद्वाज ने एक साजिश का दावा किया।

दिल्ली में पानी संकट को AAP ने NEET से कैसे जोड़ा, किया साजिश का दावा
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 18 Jun 2024 12:35 PM
ऐप पर पढ़ें

नीट परीक्षा में घोटाले और धांधली का आरोप लगाते हुए आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को बड़ा प्रदर्शन किया। पार्टी के मंत्री, विधायक और नेता जंतर-मंतर पर जुटे और कहा कि लाखों विद्यार्थियों के भविष्य से खिलवाड़ किया गया है। जल संकट के बीच हुए इस प्रदर्शन के दौरान केजरीवाल सरकार के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली की दिक्कत को नीट परीक्षा से भी जोड़ा और साजिश का दावा किया।

केजरीवाल सरकार के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने दावा किया कि जल संकट की खबरों से नीट मामले को दबाया जा रहा है। उन्होंने कहा, 'आप इस साजिश को समझिए दिल्ली में दो करोड़ की जनसंख्या है। कुछ इलाकों में पानी नहीं आ रहा है एक सप्ताह से सुबह से शाम तक टीवी पर पानी ही पानी चल रहा है ताकि नीट की खबर पर पानी फेर दी जाए। यह खबर पानी की तब तक चलती रहेगी जब तक नीट की खबर दब ना जाए। आप इस षड्यंत्र को समझो। दो ट्रेनों की टक्कर होती है, 9 लोगों की मौत हो जाती है, उस पर टीवी पर बहस नहीं होगी। हरियाणा पानी नहीं दे रहा है उस पर बहस नहीं होगी, केंद्र चुप बैठा है उस पर बहस नहीं होगी। भाजपा कहीं पर एक वीडियो बनवा लेगी की पानी लीक हो रहा है उस पर सुबह से शाम तक चर्चा होगी। हमें यह बात समझनी है और लोगों को समझानी है।'

जंतर-मंतर पर प्रदर्शन के बाद आम आदमी पार्टी ने बुधवार को पूरे देश में प्रदर्शन का भी ऐलान किया है। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि केंद्र सरकार सब जानती है और इतने बड़े भ्रष्टाचार को छिपाने की कोशिश कर रही है। हमारी मांग है कि केंद्र सरकार अपनी जिम्मेदारी सुप्रीम कोर्ट पर ना डाले। जो काम सरकार को करना है वह सुप्रीम कोर्ट पर क्यों छोड़ा जा रहा है। केंद्र सरकार पूरे मामले की जांच कराए, जिसकी मॉनिटरिंग सुप्रीम कोर्ट करे। यह सिर्फ 24 लाख बच्चों की बात नहीं है, 24 लाख बच्चे वो भी हैं जिन्हें कुछ महीने बाद परीक्षा देनी है। 11वीं और 10वीं पढ़ रहे बच्चे और उनके माता-पिता भी परेशान हैं।

आम आदमी पार्टी की विधायक राखी बिरला ने कहा, 'हम यहां पर कोई राजनीतिक आंदोलन करने के लिए नहीं आए हैं। यह देश की जनता और बच्चों के भविष्य का सवाल है। क्योंकि परीक्षा के नाम पर घोटाला हुआ है। सर्वोच्च न्यायालय ने मामले को लेकर सख्त टिप्पणी की है लेकिन केंद्र सरकार के मुखिया को इस पर बोलने के लिए एक शब्द नहीं है। हम देश की शिक्षा के व्यावसायिकरण के खिलाफ आंदोलन करने के लिए यहां पर जुटे हैं। केंद्र सरकार को तत्काल इसका संज्ञान लेना चाहिए और बच्चों के भविष्य को बचाने के लिए तत्काल कदम उठाना चाहिए।'