ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRलोकसभा में हार के बाद विधानसभा चुनाव के लिए ऐक्टिव AAP सरकार, किए 2 ऐलान

लोकसभा में हार के बाद विधानसभा चुनाव के लिए ऐक्टिव AAP सरकार, किए 2 ऐलान

लोकसभा चुनाव में शिकस्त झेलने वाली दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार विधानसभा की जंग के लिए तैयारी में जुट गई है। दिल्ली के गांवों में सड़कों को सुधारने के लिए युद्धस्तर पार काम करेगी सरकार।

लोकसभा में हार के बाद विधानसभा चुनाव के लिए ऐक्टिव AAP सरकार, किए 2 ऐलान
Sudhir Jhaपीटीआई,नई दिल्लीWed, 12 Jun 2024 04:29 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव में शिकस्त झेलने वाली दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार विधानसभा की जंग के लिए तैयारी में जुट गई है। एक तरफ जहां गांवों में 900 करोड़ की लागत से युद्धस्तर पर विकास कार्य किए जाएंगे तो दूसरी तरफ हर विधानसभा क्षेत्र में जनता की समस्याओं को दूर करने की कवायद चल रही है। दिल्ली सरकार के मंत्री गोपाल राय ने कहा कि अक्टूबर तक सभी कामों को पूरा कर लिया जाएगा। 

'गांवों के विकास पर खर्च करेंगे 900 करोड़'
गोपाल राय ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि उनकी सरकार गांवों के विकास पर तेजी से काम करने जा रही है। उन्होंने कहा, 'लोकसभा चुनाव की वजह से दो महीने से नए काम नहीं हो पा रहे थे। आचार संहिता खत्म होते ही दिल्ली सरकार ने अपनी गति बढ़ा दी है। दिल्ली में गांवों की बड़ी संख्या है। इनके विकास के लिए केजरीवाल सरकार ने 2024-25 के बजट में पहली बार 900 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है। सरकार ने दिल्ली के सभी गांवों के विकास के लिए 900 करोड़ रुपए की लागत से काम करवाने के लिए युद्धस्तर पर तैयारी शुरू की है। खासतौर पर सड़कों को प्राथमिकता दी जाएगी।'

हर विधानसभा की समस्याओं पर मंथन
गोपाल राय ने कहा कि 19 जून को सभी विधायकों की बैठक बुलाई गई है। इसमें जमीन पर समस्याओं और समाधान को लेकर चर्चा की जाएगी। बैठक में सभी क्षेत्रों में चल रहे कामों की समीक्षा की जाएगी और जहां भी दिक्कत होगी, उन्हें ठीक किया जाएगा। 27-28 जून को दिल्ली सरकार के सभी विभाग सचिवालय में कैंप लगाएंगे, जिससे सभी कागजी काम निपटाए जा सकें और विकास कार्यों को तेजी से बढ़ाया जा सके। 

15 जून तक ऐक्शन प्लान बनाने को कहा 
गोपाल राय ने बताया कि आचार सहिंता लागू होने से पहले बोर्ड की मीटिंग में 1387 प्रस्ताव दिल्ली के विधायकों ने रखे थे। बोर्ड ने इन सभी प्रस्तावों को पास कर दिया था। आज बोर्ड और एजेंसियों को 15 जून तक ऐक्शन प्लान तय करने का निर्देश दे दिया है। इस बार सभी कामों को पूर्ण करने के लिए अक्टूबर तक का ही समय है। यह बेहद कम समय है लेकिन सभी कामों को पूरा कर लिया जाएगा।