ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRराहुल गांधी की सजा से अरविंद केजरीवाल को भी कष्ट, कांग्रेस नेता के बचाव में क्यों उतर गए AAP चीफ?

राहुल गांधी की सजा से अरविंद केजरीवाल को भी कष्ट, कांग्रेस नेता के बचाव में क्यों उतर गए AAP चीफ?

मोदी सरनेम को लेकर दिए गए विवादित बयान को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को सूरत की अदालत ने दोषी करार दिया है। राहुल गांधी को 2 साल कैद की सजा सुनाई गई है।

राहुल गांधी की सजा से अरविंद केजरीवाल को भी कष्ट, कांग्रेस नेता के बचाव में क्यों उतर गए AAP चीफ?
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 24 Mar 2023 08:52 AM
ऐप पर पढ़ें

मोदी सरनेम को लेकर दिए गए विवादित बयान को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को सूरत की अदालत ने दोषी करार दिया है। राहुल गांधी को 2 साल कैद की सजा सुनाई गई है। राहुल के बचाव में कांग्रेस के नेता बैटिंग कर ही रहे हैं, लेकिन आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने भी कांग्रेस सांसद का बचाव करते हुए मोदी सरकार पर निशाना साधा है। 

केजरीवाल ने ट्वीट किया, 'गैर बीजेपी नेताओं और पार्टियों पर मुकदमे करके उन्हें खत्म करने की साजिश हो रही है। हमारे कांग्रेस से मतभेद हैं मगर राहुल गांधी जी को इस तरह मानहानि मुकदमे में फसाना ठीक नहीं। जनता और विपक्ष का काम है सवाल पूछना। हम अदालत का सम्मान करते हैं पर इस निर्णय से असहमत हैं।' केजरीवाल की प्रतिक्रिया राजनीतिक विश्लेषकों के लिए थोड़ी चौंकाने वाली है। ऐसा इसलिए क्योंकि इससे पहले भी कांग्रेस नेताओं खासकर राहुल गांधी और सोनिया गांधी के खिलाफ कानूनी प्रक्रियाओं पर वह चुप्पी साधे रहे हैं।

राहुल गांधी को बहुत बड़ा झटका, 'मोदी सरनेम' केस में 2 साल जेल की सजा

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता और दिल्ली सरकार में मंत्री सौरभ भारद्वाज ने भी राहुल गांधी का बचाव किया। उन्होंने कहा, 'अलग-अलग मुकदमों में विपक्ष के नेताओं को फंसाया जा रहा है। दर्जनों एफआईआर करके विपक्ष को बताया जा रहा है कि आप आवाज सरकार से सवाल करेंगे तो आपकी जुबान बंद करा देंगे। यह ठीक नहीं है।'

मैंने तो अपना काम किया, माफी की बात नहीं; 2 साल की सजा के बाद राहुल

AAP के रुख में क्यों बदलाव?
आम आदमी पार्टी की ओर से राहुल गांधी का बचाव किए जाने के बाद सवाल उठने लगा है कि आखिर दिल्ली की सत्ताधारी पार्टी ने अपने रुख में बदलाव क्यों किया? माना जा रहा है कि शराब घोटाले में मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी और उसके बाद उपजे हालात को लेकर 'आप' को अपना रुख बदलना पड़ा है। मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी के बाद कुछ कांग्रेस के कुछ नेताओं ने इसे मोदी सरकार की बदले की कार्रवाई बताया तो कुछ नेताओं ने सवाल भी उठाया था कि जब कांग्रेस नेताओं के खिलाफ कुछ कार्रवाई होती है तो 'आप' क्यों चुप्पी साधे रखती है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें