ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRशराब घोटाले में केजरीवाल को आठवें समन पर क्या बोली AAP, BJP बोली - कानून का मजाक बना दिया

शराब घोटाले में केजरीवाल को आठवें समन पर क्या बोली AAP, BJP बोली - कानून का मजाक बना दिया

भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने कहा, 'अगर किसी विषय पर पूछताछ होती है और जिसपर आरोप है उसको लगता है कि हम जवाब ही नहीं दे सकते हैं तो यह साबित करता है कि वो अपराधी है और अपना अपराध स्वीकार करता है।'

शराब घोटाले में केजरीवाल को आठवें समन पर क्या बोली AAP, BJP बोली - कानून का मजाक बना दिया
Nishant Nandanलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 27 Feb 2024 04:31 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने आठवां समन भेजा है। शराब घोटाले में पूछताछ के लिए सीएम केजरीवाल को मिले समन पर आम आदमी पार्टी के नेता गोपाल राय ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। गोपाल राय ने कहा, 'बार-बार समने भेजना यह दिखाता है कि बीजेपी और ईडी यहां तक की कोर्ट की सुनवाई का भी इंतजार नहीं कर सकती है। ईडी की तरफ से दिए गए समन पर जवाब दिया गया लेकिन उन्होंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। वो सिर्फ यहीं कर रहे हैं कि समन भेजते जा रहे हैं।'

दिल्ली के मुख्यमंत्री औऱ आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अऱविंद केजरीवाल को आठवां समन भेजे जाने पर बीजेपी की प्रतिक्रिया भी सामने आई है। भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने कहा, 'अगर किसी विषय पर पूछताछ होती है और जिसपर आरोप है उसको लगता है कि हम जवाब ही नहीं दे सकते हैं तो यह साबित करता है कि वो अपराधी है और अपना अपराध स्वीकार करता है।

मुझे आश्चर्य हो रहा है कि ईडी जैसी संस्था इतना मौका क्यों दे रही है किसी को। मैं देश की एजेंसियों से निवेदन करूंगा कि आपको निर्भिकता से औऱ निष्पक्षता से जो देश की आकांक्षा है उसके साथ काम करना चाहिए। वैसे जो अब तक सबसे लंबा समन है वो है कि दसवें समन के बाद गिरफ्तारी होती है। अरविंद केजरीवाल कानून का मजाक बना रहे हैं। कानून नहीं मान कर वो जो संदेश दे रहे हैं वो एक खतरनाक संदेश है, मगर संविधान कानून का पालन कराना भी जानता है।'

दिल्ली प्रदेश ,बीजेपी के अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने कहा, 'दुर्भाग्यपूर्ण है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री जो खुद एक संवैधानिक पद पर बैठे हैं वो कानून का पालन नहीं कर रहे हैं। अरविंद केजरीवाल कट्टर इमानदार होने का दावा करते हैं, उनके पास मौका है कि वो जांच एजेंसी के पास जाएं और सारे तथ्य सामने रखें।'

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें