ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCR3 जनवरी को ED के सामने पेशी से पहले हलचल तेज, AAP की बड़ी बैठक; केजरीवाल के नाम से अभियान

3 जनवरी को ED के सामने पेशी से पहले हलचल तेज, AAP की बड़ी बैठक; केजरीवाल के नाम से अभियान

सीएम केजरीवाल को ED की तीसरी नोटिस के बाद  AAP की इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि इस बैठक में पार्टी के 300 से ज्यादा सदस्य हिस्सा ले सकते हैं।

3 जनवरी को ED के सामने पेशी से पहले हलचल तेज, AAP की बड़ी बैठक; केजरीवाल के नाम से अभियान
Nishant Nandanएएनआई,नई दिल्लीSun, 31 Dec 2023 01:55 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल विपश्यना से लौट आए हैं। सीएम केजरीवाल के दिल्ली आते ही पार्टी अब ऐक्शन मोड में आ गई है और पार्टी में हलचल भी बढ़ गई है। यहां बता दें कि दिल्ली के चर्चित आबकारी नीति घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय ने सीएम केजरीवाल को समन जारी करते हुए उन्हें पूछताछ के लिए 3 जनवरी को बुलाया है। हालांकि, सीएम केजरीवाल इस समन को देखते हुए ईडी के सामने हाजिर होंगे या नहीं अभी इसपर सस्पेंस बरकरार है। लेकिन उससे पहले आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी और काउंसिल की एक अहम बैठक होनी है। शनिवार को ही AAP की तरफ से जानकारी दी गई थी कि यह बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी।

सीएम केजरीवाल को ED की तीसरी नोटिस के बाद  AAP की इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है। कुछ मीडिया रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि इस बैठक में पार्टी के 300 से ज्यादा सदस्य हिस्सा ले सकते हैं। यह भी उम्मीद है कि इस बैठक में दिल्ली में 3 राज्यसभा सीटों के लिए होने वाले चुनाव पर भी चर्चा हो सकती है। सीएम केजरीवाल करीब 10 दिन बाद पंजाब को होशियारपुर में विपश्यना से लौटे हैं। अब उनहें ईडी के सामने पेश भी होना पड़ सकता है। 

विपश्यना से लौटने के बाद सीएम केजरीवाल ने एक ट्वीट कर कहा था, '10 दिन की विपश्यना साधना के बाद आज वापिस लौटा। इस साधना से असीम शांति मिलती है। नई ऊर्जा के साथ आज से फिर जनता की सेवा में लगेंगे। सबका मंगल हो!' बता दें कि इससे पहले 22 दिसंबर को ईडी ने कथित शराब घोटाले में सीएम केजरीवाल को तीसरी बार समन भेजते हुए 3 जनवरी को जांच एजेंसी के समक्ष हाजिर होने के लिए कहा था। 

ईडी ने 18 दिसंबर को भी सीएम केजरीवाल को समन जारी कर पूछताछ के लिए आने को कहा था लेकिन केजरीवाल जांच एजेंसी के सामने पेश नहीं हुए थे। सबसे पहली बार केजरीवाल को 2 नवंबर को समन जारी कर बुलाया गया था। लेकिन सीएम ने इस समन को गैर-कानूनी बताया था और वो ईढी के समक्ष उपस्थित नहीं हुए थे। उन्होंने इस समन को राजनीति से प्रेरित बताया था। इसी केस में सीएम केजरीवाल को अप्रैल के महीने में सीबीआई ने भी समन जारी किया था। पिछले साल 17 अगस्त को सीबीआई ने इस मामले को लेकर जो एफआईआर दर्ज की गई थी उसमें अऱविंद केजरीवाल को आऱोपी नहीं बनाया गया था। 

AAP का 'मैं भी केजरीवाल' अभियान

इधर आम आदमी पार्टी दिल्ली में 'मैं भी केजरीवाल' अभियान शुरू करने का ऐलान कर चुकी है। इस अभियान की शुरुआत 4 जनवरी से होगी। आम आदमी पार्टी (आप) के राज्यसभा सदस्य संदीप पाठक ने शनिवार को कहा कि हस्ताक्षर अभियान की सफलता के बाद पार्टी अगले साल चार जनवरी से 'मैं भी केजरीवाल' जनसंवाद पहल शुरू करेगी। इससे पहले पार्टी ने एक से 30 दिसंबर तक चलाए गए 'मैं भी केजरीवाल' हस्ताक्षर अभियान के तहत लोगों से इस पर राय मांगी गई थी कि अगर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया जाता है तो क्या उन्हें इस्तीफा देना चाहिए या पद पर बने रहना चाहिए?
     
पार्टी ने एक बयान में कहा, 'आप' के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) पाठक ने घर-घर अभियान की सफलता को लेकर और चार जनवरी से शुरू होने वाले आगामी 'मैं भी केजरीवाल' अभियान के लिए पार्टी कैडर के प्रशिक्षण के संबंध में पार्टी मुख्यालय में एक बैठक बुलाई थी। उन्होंने कहा, 'हमने दिल्लीवासियों को बताया कि कैसे (प्रधानमंत्री नरेन्द्र) मोदी सरकार आम आदमी पार्टी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को खत्म करने की साजिश रच रही है। हमने लोगों को बताया कि जो कोई भी मोदी सरकार से सवाल करता है तो उसे निलंबित कर दिया जाता है या जेल में डाल दिया जाता है। अगर मोदीजी किसी से डरते हैं, तो वह अरविंद केजरीवाल हैं।'
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें