DA Image
27 मई, 2020|10:02|IST

अगली स्टोरी

88 साल के बुजुर्ग ने कोरोना को दी मात, योग-दृढ़ इच्छाशक्ति और संयमित जीवनशैली पाई कामयाबी

s jaiswal

दिल्ली में 88 साल के बुजुर्ग एस जायसवाल ने मजबूत इच्छाशक्ति और सकारात्मक सोच के बल पर कोरोना संक्रमण को मात देने में कामयाबी हासिल की है। एस जायसवाल भारतीय वायुसेना के पूर्व अधिकारी हैं।

हिमाचल प्रदेश के उना के रहने वाले एस जायसवाल को 27 अप्रैल को कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। उन्हें इलाज के लिए दिल्ली के गंगाराम अस्पताल से जुड़े कोलमट हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था। 9 मई तक वो पूरी तरह से संक्रमण मुक्त हो गए और उन्हें अस्पातल से छुट्टी दे दी गई है।

गंगाराम अस्पताल के चेयरमैन डॉक्टर डी.एस. राणा ने कहा कि आमतौर पर इस उम्र में लोग किसी न किसी बीमारी से पीड़ित होते हैं, लेकिन उनमें कोई बड़ी बीमारी नहीं थी। वह रोज सुबह शाम दो घंटे योग करते हैं। संयमित जिंदगी जीते हैं। खाने-पीने में खास ख्याल रखते हैं। नतीजा यह है कि इस उम्र में भी वह पूरी तरह से निरोग हैं, उन्हें ऐसी कोई बीमारी नहीं थी। यही कारण है कि कोविड-19 जैसे संक्रमण के बाद भी वह पूरी तरह से ठीक हो गए। 

इसके पहले बीमार नहीं हुए

एस जायसवाल की दिनचर्या और अनुशासित जीवन शैली की वजह से 88 साल की उम्र में भी उन्हें कोई बीमारी नहीं हुई, लेकिन कोरोना संक्रमण हो गया। स्वस्थ जीवनशैली की वजह से इन्होंने इस खतरनाक वायरस को मात दे दी है। उन्होंने ऐसा कर अपने जैसे बाकी लोगों के लिए उदाहरण पेश किया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:88 Year Old s jaiswal wins corona battel by yoga discipline and strong will power