ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCR ग्रेटर नोएडा वेस्ट में 854 लोगों को घर, किसानों को भी मिलेगा प्लॉट; रास्ता साफ

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में 854 लोगों को घर, किसानों को भी मिलेगा प्लॉट; रास्ता साफ

ग्रेनो वेस्ट में 854 खरीदारों को घर मिलने का रास्ता साफ हो गया है। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने आरजी लक्ज़री होम्स के टावर ए, बी, सी और एम के लिए ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट (OC) जारी कर दी है।

 ग्रेटर नोएडा वेस्ट में 854 लोगों को घर, किसानों को भी मिलेगा प्लॉट; रास्ता साफ
Mohammad Azamलाइव हिंदुस्तान,ग्रेटर नोएडाSun, 11 Feb 2024 04:51 PM
ऐप पर पढ़ें

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में 854 खरीदारों को घर मिलने का रास्ता साफ हो गया है। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने आरजी लक्ज़री होम्स के टावर ए, बी, सी और एम के लिए ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट (ओसी) जारी कर दी है। अब जल्द ही हैंडओवर और रजिस्ट्री की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। बताया जाता है कि आरजी लक्ज़री होम्स एनसीएलटी से रिवर्स इन्सॉल्वेंसी का ऑर्डर हासिल करने के बाद निर्माण और विकास कार्यों को पूर्ण किया। इस तरह के केस में ओसी प्राप्त करने वाला यह पहला प्रोजेक्ट है। 

बिल्डर ने आईआरपी (अंतरिम रिज़ॉल्यूशन प्रोफेशनल) की देखरेख में टावरों को पूरा किया है। आरजी लक्ज़री होम्स 18.5 एकड़ में फैला हुआ ग्रुप हाउसिंग प्रोजेक्ट है। इसमें 13 आवासीय टावर हैं। यह सेक्टर 16 बी, ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्थित है। इसमें लगभग 1918 इकाइयां हैं। अब ओसी मिलने के बाद 854 यूनिटस में पजेशन दिया जा सकेगा। आरजी ग्रुप के निदेशक, हिमांशु गर्ग ने कहा कि आरजी लक्ज़री होम्स के लिए ऑक्यूपेंसी सर्टिफिकेट (ओसी) हासिल करना महत्वपूर्ण है।

चिटहरा और दतावली गांव के किसानों को जल्द प्लॉट मिलेंगे
यूपीसीड़ा द्वारा शिव नाडार यूनिवर्सिटी के लिए जमीन लिए जाने से प्रभावित चिटहरा एवं दतावली गांवों के किसानों की जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट में हुई वार्ता सफल रही। जल्द ही प्लॉट दिए जाएंगे।

वार्ता में अधिकतर किसानों को 64.7 मुआवजा मिलने के बाद अब शेष सभी किसानों को एक समान और बढ़ा हुआ मुआवजा जल्द दिए जाने एवं सभी प्रभावित किसानों को 10 विकसित प्लॉट एक महीने में आवंटित किए जाने पर सहमति बन गई है। इसके साथ ही सभी भूमिधर और भूमिहीन किसानों के बच्चों को रोजगार तथा पुनर्वास के लाभ दिए जाने, गांव का ग्रामीण विकास, जिन किसानों की जमीन का अधिग्रहण निरस्त हुआ था उन्हें उनकी जमीन जल्द वापस मिलने का मिला भरोसा दिया गया है। इससे किसानों में खुशी की लहर है। किसानों ने वर्ष 2012 और 2013 में बड़ा आन्दोलन किया था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें