DA Image
21 फरवरी, 2020|7:08|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीस हजारी कोर्ट के लिए सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम, बीते साल वकीलों और पुलिस में हुई थी झड़प

tis hazari court

पिछले साल दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट परिसर में वकीलों और पुलिस के बीच हुई झड़प के मद्देनजर दिल्ली सरकार जल्द ही कोर्ट में 200 सीसीटीवी कैमरे लगवाने जा रही है।

राजधानी में अदालत परिसरों के भीतर सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए 2018 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा जारी निर्देशों के अनुपालन में गठित एक कमेटी द्वारा यह फैसला किया गया। आईएएनएस को बैठक में हुए इस फैसले की जानकारी मिली है। 

लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के एक पत्र का हवाला देते हुए दिल्ली सरकार ने कहा कि अब तक तीस हजारी अदालत परिसर के कोर्ट रूम में कोई उच्च श्रेणी तकनीक वाले कैमरे नहीं हैं, लेकिन जल्द ही करीब 200 सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे।

पिछले साल नवंबर में, तीस हजारी अदालत परिसर में वकीलों और पुलिस अधिकारियों के बीच मतभेद हिंसक हो गया। परिणामस्वरूप, बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी और वकील आपस में भिड़ गए, जिसमें कई घायल भी हुए।

इस घटना के कुछ महीनों बाद भी भारत में अदालतों पर सुरक्षा खतरा का मसला अभी भी बड़ा है, इस सप्ताह की शुरुआत में लखनऊ की एक अदालत में बम विस्फोट हुआ था, जिसमें तीन लोग घायल हो गए थे।

2016 में रोहिणी कोर्ट में एक सुरक्षा कर्मचारी द्वारा कथित तौर पर एक वकील के साथ दुर्व्यवहार और हमला करने के बाद झड़प हो गई थी। तीस हजारी के अलावा, द्वारका अदालत ने कोर्टरूम में 120 सीसीटीवी लगाने के लिए निविदा मंगाई है।

राजधानी दिल्ली में जिला अदालतों में कुल 2,451 कैमरे लगाए गए हैं। इन सबके बीच, रोहिणी कोर्ट में सबसे कम कैमरे लगे हैं, जबकि कड़कड़डूमा में सबसे ज्यादा कैमरे लगे हैं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:200 CCTV cameras will be installed in Tis Hazari Court