Thursday, January 27, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRग्रेटर नोएडा : फिल्म सिटी विकसित करने के लिए 20 कंपनियों ने जताई इच्छा

ग्रेटर नोएडा : फिल्म सिटी विकसित करने के लिए 20 कंपनियों ने जताई इच्छा

वरिष्ठ संवाददाता , ग्रेटर नोएडाShivendra Singh
Wed, 08 Dec 2021 09:53 PM
ग्रेटर नोएडा : फिल्म सिटी विकसित करने के लिए 20 कंपनियों ने जताई इच्छा

इस खबर को सुनें

यमुना प्राधिकरण के सेक्टर 21 में विकसित होने वाली फिल्म सिटी को लेकर बुधवार को प्रीपेड मीटिंग हुई। इसमें फिल्म सिटी विकसित करने की इच्छुक देश-विदेश की 20 कंपनियों ने हिस्सा लिया। मशहूर फिल्म निर्माता सुभाष घई और सीरियल निर्माता एकता कपूर की कंपनियों ने भी अपने विचार साझा किए हैं। कंपनियों से उनकी संस्थाओं से संबंधित सवाल 10 दिसंबर तक मांगे गए हैं। 

यमुना प्राधिकरण के सेक्टर 21 में फिल्म सिटी विकसित की जानी है। इसके लिए 1000 एकड़ जमीन आरक्षित की गई है। इसमें 220 एकड़ जमीन व्यवसायिक उपयोग की होगी। बाकी बची जमीन पर फिल्म से संबंधित गतिविधियां की जाएंगी। प्रदेश सरकार के इस ड्रीम प्रोजेक्ट के लिए 23 नवंबर को वैश्विक निविदा निकाली गई थी। पीपीपी मॉडल पर विकसित होने वाली इस फिल्म सिटी को लेकर बुधवार को प्रीबिड मीटिंग हुई। इस बैठक में देश विदेश की 20 से अधिक कंपनियों ने हिस्सा लिया। कंपनियों ने अपनी शंकाएं व्यक्त की और प्राधिकरण ने उनका जवाब दिया। प्री बिड मीटिंग में दो विदेशी कंपनियों ने भी अपनी भागीदारी सुनिश्चित की। 

इस तरह के सवाल पूछे गए
कंपनियों ने पूछा कि अगर कोई कंसोर्सियम बनाता है तो उसमें किस तरह से शेयर होंगे। फिल्म सिटी के विकास में यमुना प्राधिकरण का क्या रोल रहेगा। इस निर्माण में तमाम तरह की एनओसी होंगी, उनको दिलाने में प्राधिकरण का क्या भूमिका हिगी। परियोजना में सब लाइसेंसी कौन होगा। इस तरह के सवाल कंपनियों ने पूछे हैं। इस बैठक में कुछ कंपनियां ऑनलाइन तो कुछ यमुना प्राधिकरण आकर शामिल हुईं। इसमें आईडीसी संजीव मित्तल, प्रमुख सचिव औद्योगिक अरविंद कुमार, यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ. अरुण वीर सिंह, एसीईओ मोनिका रानी, रविंद्र सिंह, ओएसडी शैलेंद्र भाटिया, ओएसडी शैलेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे। 

10 दिसंबर तक पूछ सकते हैं सवाल
यमुना प्राधिकरण ने कंपनियों से 10 दिसंबर तक उनकी शंकाओं से संबंधित सवाल मांगे हैं। इन सवालों का जवाब शासन स्तर पर बनी समिति देगी। कंपनियों के जो भी सुझाव मानने योग्य होंगे, उन्हें परिजनों में लागू किया जाएगा।

इन कंपनियों ने लिया हिस्सा
एआईडीए मैनेजमेंट, श्री हंस डेवलपर्स, इंवेंटम टेक्नोलॉजी, श्री टीवी, ओरिएंट, बालाजी फिल्म्स (एकता कपूर), जॉइंट रॉकेट मीडिया एंड एंटरटेनमेंट, विसलिंग वुड्स इंटरनेशनल (सुभाष घई), बीडीपी, जेटवर्क इंटरनेशनल, टयूलिप इंटरनेशनल (विदेशी), पापुलस, ग्रीन विच स्टेट, गोदरेज, आयरन स्टोर प्राइवेट लिमिटेड, केईसी इंटरनेशनल लिमिटेड, ई एंड वाई (विदेशी), एलएंडटी, इमेजिनक्रोन इंफ्रा।

epaper

संबंधित खबरें