DA Image
16 सितम्बर, 2020|2:23|IST

अगली स्टोरी

दृढ़ इच्छाशक्ति से 100 साल के बुजुर्ग ने कोरोना को हराया, स्वास्थ्य राज्यमंत्री ने जताई खुशी

गाजियाबाद के राजनगर में रहने वाले एक 100 साल के बुजुर्ग ने कोरोना वायरस को मात देकर सभी को हैरान कर दिया है। कौशांबी के एक निजी अस्पताल से बुजुर्ग को छुट्टी दे दी गई है। बुजुर्ग के परिवार के पांच सदस्य कोरोना संक्रमित हुए थे। उन्हें 18 अगस्त को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कोरोना को मात देने वाले वह जनपद के सबसे उम्रदराज शख्स माने जा रहे हैं।

राजनगर में रहने वाले भाजपा नेता सूदन रावत के पति मांगेराम की आयु 100 वर्ष है। उनके परिवार में कई सदस्यों की तबियत खराब होने पर कौशांबी स्थित यशोदा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मांगेराम को शरीर में कमजोरी थी और भूख भी कम लग रही थी। अस्पताल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. सुनील डागर ने बताया कि बुजुर्ग समेत परिवार के कुल पांच सदस्य अस्पताल में भर्ती हुए थे। हालत में सुधार होने के बाद सभी को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। 

फल और सादा खाने की सलाह : अस्पताल के डॉक्टर केके पांडेय ने बताया कि अधिक उम्र होने की वजह से उन्हें फल और सादा खाना जैसे मूंग दाल की खिचड़ी, दलिया और मौसमी फलों को खाने की सलाह दी गई है। डॉक्टरों का कहना है कि दृढ़ इच्छाशक्ति के कारण बुजुर्ग ने कोरोना को मात देने में सफलता पाई है। 

611 बुजुर्ग संक्रमण से जंग जीत चुके

जिले में अभी तक 60 वर्ष से अधिक उम्र के 611 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। वहीं 21 बुजुर्ग लोगों की मौत हो चुकी है। वर्तमान में जिले में कोरोना के करीब 1100 सक्रिय मामले हैं, जिसमें 73 मरीज 60 वर्ष से अधिक के हैं। सामान्य तौर पर कोविड एल-1 श्रेणी में भर्ती होने वाले बुजुर्ग लोग भी दस दिन के भीतर स्वस्थ हो गए हैं।

स्वास्थ्य राज्यमंत्री ने भी हर्ष जताया 

अस्पताल में भर्ती प्रदेश के स्वास्थ्य राज्यमंत्री अतुल गर्ग ने भी मांगेराम के स्वस्थ होने पर खुशी जताई है। अतुल गर्ग ने कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे स्वास्थ्य सेवा से जुड़े सभी कोरोना वॉरियर्स का आभार जताया है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:100-year-old person defeated Coronavirus with strong will power in Ghaziabad