Thug case in the name of insurance policy - बोनस के नाम पर 500 लोगों ठग चुके DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बोनस के नाम पर 500 लोगों ठग चुके

इंश्योरेंस पॉलिसी पर बोनस दिलाने के नाम पर ठगी के आरोप में गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ में खुलासा हुआ कि ये लोग अब तक 500 से अधिक लोगों को अपना शिकार बना चुके हैं। वहीं, दिल्ली-एनसीआर में इस तरह की 30 से अधिक फर्जी ब्रोकर कंपनी व कॉल सेंटर चल रहे हैं। एसटीएफ इन फर्जी कंपनियों की सूची तैयार कर रही है। नोएडा एसटीएफ ने सोमवार को इंश्योरेंस पॉलिसी पर बोनस दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी करने वाले दो आरोपियों फरीदाबाद निवासी राहुल व राजीव शुक्ला को गिरफ्तार किया था। ये दोनों सेक्टर-3 नोएडा में ब्रोकर कंपनी में काम कर रहे थे। आरोपियों ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग की रिटायर्ड विभागाध्यक्ष डा. शैल कुमार पांडेय से लाखों की ठगी की थी। इस मामले में पीड़िता ने इलाहाबाद के जार्ज टाउन थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद इस मामले की जांच एसटीएफ कर रही थी। जांच में पता चला कि ये शातिर इंश्योरेंस कंपनियों से डिटेल लेकर लोगों को फंसाते हैं। तरह-तरह के प्रलोभन देकर अपने पाले में कर चूना लगा देते हैं। इन शातिरों ने बोनस के नाम पर महिला प्रोफेसर को फंसा लिया और सिंगल प्रीमियम बताकर टर्म इंश्योरेंस करा दिया। कोड के नाम पर लिए पैसे आरोपियों ने महिला प्रोफेसर को बोनस दिलाने के नाम पर कई पुरानी पॉलिसी को सरेंडर करा दिया और नई पॉलिसियां अलग-अलग कंपनियों में खोल दीं। इसके बाद कोड के नाम पर पैसे ले लिए। जैसे माइक्रो कोड, रीलिसिंग कोड व ट्रांजेक्शन कोड। साजिशकर्ता महिला की गिरफ्तारी के लिए दबिश एसटीएफ के एसपी त्रिवेणी सिंह ने बताया कि इस पूरे नेटवर्क की साजिशकर्ता रितू कपूर है। उसका एक साथी फर्जीवाड़ा में अहम भूमिका निभाता है। दोनों की गिरफ्तारी के लिए एसटीएफ की टीम कई शहरों में दबिश दे रही है। रितू कपूर की गिरफ्तारी के बाद इस पूरे नेटवर्क के बारे में पता चलेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Thug case in the name of insurance policy