DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अदालत ने दो आरोपियों को न्यायिक हिरासत में जेल भेजा

नोएडा के सॉफ्टवेयर इंजीनियर अंकित चौहान हत्याकांड के दोनों आरोपियों को अदालत ने रिमांड पर देने से मना कर दिया। अदालत ने दोनों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। रिमांड नहीं मिलने के बाद सीबीआई ने एक और प्रार्थना पत्र अदालत को दिया है। बचाव पक्ष को आपत्ति के लिए समय दिया गया है। यूपी एसटीएफ ने शुक्रवार को अंकित हत्याकांड का पर्दाफाश किया। एसटीएफ और सीबीआई ने हत्याकांड में शामिल गाजियाबाद के विजय नगर निवासी दो दोस्तों शशांक जादौन और मनोज को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के बाद सीबीआई शुक्रवार दोपहर दोनों आरोपियों को गाजियाबाद के विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश करने के लिए लाई। मजिस्ट्रेट के अवकाश पर होने के कारण लिंक मजिस्ट्रेट अपर जिला मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट पंचम की अदालत में दोनों को पेश किया गया। सीबीआई ने अदालत से दोनों आरोपियों से हत्याकांड संबंधित पूछताछ के लिए 10 दिन के रिमांड का अनुरोध किया था। बचाव पक्ष के अधिवक्ता सीपी सिंह ने इस पर विरोध जताते हुए कहा दोनों को गलत फंसाया जा रहा है। इसमें रिमांड की जरूरत नहीं है। अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने सीबीआई को रिमांड से इंकार करते हुए दोनों आरोपियों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The court sent the accused to jail in judicial custody