DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बकायेदारों पर कड़ी कार्रवाई की तैयारी में प्राधिकरण

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण बकायेदारों पर कड़ी कार्रवाई करने की तैयार कर रहा है। इस संबंध में मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने शुक्रवार को संस्थागत, औद्योगिक, बिल्डर समेत सभी विभागों से बकाया धनराशि का पूरा हिसाब-किताब मांगा है। ब्योरा आने के बाद बकायेदारों पर कड़ी कार्रवाई होगी। प्राधिकरण इस समय करीब 7 हजार करोड़ रुपये के कर्ज में डूबा है। प्राधिकरण हर साल करीब 600 करोड़ रुपये ब्याज दे रहा है जबकि प्राधिकरण की 10 हजार करोड़ रुपये से अधिक की धनराशि आवंटियों पर बकाया है। कितनी धनराशि बकाया है, इसका ब्योरा प्राधिकरण अफसरों के पास नहीं है। इसके कारण बकायेदारों पर कार्रवाई नहीं हो रही है। मुख्य कार्यपालक अधिकारी देवाशीष पांडा ने बताया कि संस्थागत, औद्योगिक, बिल्डर, किसान और अन्य आवंटियों के विभाग से बकाया धनराशि का हिसाब-किताब मांगा है ताकि पता चल सके कि प्राधिकरण का कितना पैसा अभी बकाया है। आठ दिन के अंदर यह रिकॉर्ड देना होगा। उसके बाद बकायेदारों से वसूली की कार्रवाई शुरू होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Preparation of strict action on the defaulters