DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › नोएडा › विशेष अभियान में महज 60 प्रतिशत टीकाकरण
नोएडा

विशेष अभियान में महज 60 प्रतिशत टीकाकरण

हिन्दुस्तान टीम,नोएडाPublished By: Newswrap
Mon, 27 Sep 2021 10:50 PM
विशेष अभियान में महज 60 प्रतिशत टीकाकरण

नोएडा। वरिष्ठ संवाददाता

जिले में कोरोनारोधी टीकाकरण महज 60 प्रतिशत ही हो पाया। स्वास्थ्य विभाग ने 50 हजार लोगों को टीका देने का लक्ष्य रखा, लेकिन 29,755 लोगों को ही टीका दिया जा सका। जिले में 137 केंद्रों पर हुए टीकाकरण में 16494 लोगों को पहली खुराक और 13281 को दूसरी खुराक दी गई। इस साल पहली बार विशेष अभियान में इतना कम टीकाकरण हुआ।

टीके मिलने में देरी से लोग वापस लौटे

छलेरा : सुबह, 10:15 :

यहां इस समय तक टीके नहीं मिले थे। लिहाजा 8-10 लोग टीका लेने का इंतजार कर रहे थे। यहां 300 लोगों को पहली और दूसरी खुराक देनी थी। लेकिन समय से टीका नहीं मिलने के कारण कई लोग वापस भी लौट गए थे। करीब 10:45 बजे टीके की खुराक इस केंद्र पर मिली। इसके बाद लोगों को टीका लगाया गया। दोपहर के बाद तक यहां टीकाकरण किया गया। टीके की खुराक नहीं मिलने के बाद वापस लौटे लोगों को दोपहर में बुलाया गया था। टीका मिलने के बाद इन लोगों का टीकाकरण हुआ।

कर्मचारियों को वरीयता दी गई

मोरना बस डिपो : 11 बजे :

मोरना बस डिपो पर ज्यादातर टीके यहीं के कर्मचारियों को लगाए गए। ऐसे में दूसरी जगहों से आए लोगों को वापस भेज दिया गया। पहले बस डिपो के कर्मचारियों को टीके बाद अन्य लोगों का टीकाकरण हुआ। डिपो के कर्मचारियों ने बताया कि यहां 800 से अधिक लोगों के लिए टीके मांगे गए थे, लेकिन 200 ही मिले। ऐसे में पहले कर्मचारियों का टीकाकरण हुआ। सलारपुर के विजय चौधरी ने बताया कि मुझे पता चला कि मोरना में टीका लगना है, लेकिन जब यहां आया तो पता चला कि डिपो वालों को पहले दी जा रही है।

सुबह से लंबी लाइन लगी

जिला अस्पताल :

जिला अस्पताल में स्लॉट वालों को टीका लगाया गया। यहां 1800 टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था। यहां भी सुबह से लंबी लाइन थी। जिला अस्पताल पंजीकरण हॉल के साथ ही कैफेटेरिया में भी टीकाकरण हुआ। पुरुष और महिलाओं के लिए अलग-अलग स्थान निर्धारित किए गए थे ताकि इलाज के लिए ओपीडी में आने वाले मरीजों को परेशानी का सामना न करना पड़े। पिछले एक महीने से जिला अस्पताल में स्लॉट से ही टीके दिए जा रहे हैं। बुजुर्ग और विशेष परिस्थितियों में वॉकइन टीकाकरण किया जा रहा है।

संबंधित खबरें