DA Image
18 जनवरी, 2021|7:20|IST

अगली स्टोरी

कोरोना वैक्सीन के लिए 32 अस्पतालों में बूथ बनेंगे

default image

नोएडा। वरिष्ठ संवाददाता

कोरोना वैक्सीन के लिए 32 निजी और सरकारी अस्प्तालों का चयन किया गया है। इसके लिए बूथ निर्धारित करने का काम भी चल रहा है। कोरोना वैक्सीन के लिए स्वास्थ्य विभाग ने अस्पतालों में बूथ निर्धारित कर दिए हैं। ग्रेटर नोएडा के शारदा अस्पताल में सर्वाधिक 10 से 12 बूथ बनाए जाएंगे। वहीं, जिला अस्पताल में तीन जगह देखी गई हैं। जहां बूथ बनाए जा सकते हैं। जिम्स में भी इसके लिए स्थान निर्धारित कर लिए गए हैं।

    स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शारदा अस्पताल के दंत चिकित्सा विभाग और एनाटॉमी विभाग में जगह चिह्नित की गई है। जिम्स में फस्र्ट फ्लोर पर खाली पड़ा वार्ड चिह्निïत किया गया है। यहां तीन से पांच बूथ हो सकते हैं। जिला अस्पताल में तीन से पांच बूथ लगाए जाने हैं। शिशु अस्पताल की बिल्डिंग के पांचवे तल पर वैक्सीनेशन होगा। शिशु अस्पताल में चार से छह वैक्सीनेशन सेंटर होंगे।

दादरी में तीन बूथ लगाए जाएंगे। इनमें एनटीपीसी, सीएचसी और एक निजी अस्पताल चिह्निïत किया गया है। जेवर में कैलाश अस्पताल में एक बूथ लगाया जाएगा। यथार्थ अस्पताल में चार, फोर्टिस में एक बूथ लगाया जाएगा। सीएमओ डॉ. दीपक ओहरी ने बताया कि टीकाकरण की तैयारियां तेजी से चल रही हैं। 32 अस्पतालों का चयन टीकाकरण के लिए किया गया है। इनमें 12 सरकारी और 20 निजी अस्पताल शामिल हैं।

कोरोना जांच के लिए 87 संदिग्ध की अब भी तलाश

नोएडा। वसं :

कोरोना संक्रमण की जांच के ब्रिटेन से लौटे 87 लोगों की अब भी तलाश की जा रही है। ये ब्रिटेन से लौटने के बाद नोएडा स्थित अपने घर पर नहीं हैं। इसमें से कोई गोवा, आयरलैंड, उत्तराखंड आदि गया हुआ है। इनमें से ज्यादातर के मोबाइल से संपर्क नहीं हो पा रहा है। लोगों को ढूंढने के लिए पुलिस की भी मदद ली जाएगी।

ब्रिटेन से 9 दिसंबर के बाद 425 लोग नोएडा लौटे हैं। इनमें से 171 की जांच हो चुकी है। इसमें दो महिलाएं संक्रमित मिली हैं। जिनका इलाज जिम्स में चल रहा है। जिन लोगों की जानकारी नहीं मिल पाई है, उनमें से कई मरीज दूसरे जिलों के भी हैं। लिहाजा उनके बारे में संबंधित जिलों को जानकारी दे दी गईहै।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Booths to be built in 32 hospitals for Corona vaccine