DA Image
15 जनवरी, 2021|8:13|IST

अगली स्टोरी

पहलवानी का प्रशिक्षण देकर बालिकाओं को आत्मनिर्भर बना रहीं बबिता

पहलवानी का प्रशिक्षण देकर बालिकाओं को आत्मनिर्भर बना रहीं बबिता

नोएडा। ग्रेटर नोएडा के सादुल्लापुर गांव निवासी अंतरराष्ट्रीय पहलवान बबीता नागर गांव की लड़कियों को पहलवानी के गुर सीखने के साथ उन्हें आत्मनिर्भर बना रही हैं। उनके यहां प्रशिक्षण लेने वाली दादरी क्षेत्र की 400 से अधिक लड़कियों की सरकारी नौकरी लग चुकी है।

बबीता नागर ने बताया कि उन्होंने वर्ष 1999 में पहलवानी शुरू की थी। परिवार ने इस पर आपत्ति की थी परंतु उनकी दृढ़ इच्छाशक्ति के सामने आखिर में वे मान गए। इसके बाद उन्होंने वर्ष 1999 में ही जूनियर स्टेट स्तर की प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक हासिल किया। उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर पदक जीतकर देश व समाज का नाम रोशन किया।

इसके बाद उन्होंने गांव की लड़कियों के लिए कुछ करने की ठानी। उन्होंने गांव में वर्ष 2005 में लड़कियों को प्रशक्षिण देना शुरू किया। शुरुआत में पांच लड़कियां आईं। एक वर्ष के प्रशिक्षण के बाद तीन लड़कियों का दिल्ली पुलिस में चयन हो गया।

उन्होंने बताया कि15 वर्षों में एक हजार से अधिक लड़कियों को प्रशिक्षण दे चुकी हूं। उन्होंने वर्ष 2016 में दंगल शुरू किया। इसमें 100 से अधिक लड़कियों को पहलवानी सीखा रही हैं।

नाम : बबीता नागर

पता : सादुल्लापुर, ग्रेटर नोएडा

पेशा : पहलवानी का प्रशिक्षण

शुरुआत : गांव से

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Babita is making girls self-reliant by training her