ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCR नोएडाशेयर बाजार में निवेश का झांसा देकर महिला से 43 लाख ऐंठे

शेयर बाजार में निवेश का झांसा देकर महिला से 43 लाख ऐंठे

नोएडा, संवाददाता। साइबर अपराधियों ने सेक्टर-134 निवासी महिला को शेयर बाजार में निवेश कर...

शेयर बाजार में निवेश का झांसा देकर महिला से 43 लाख ऐंठे
हिन्दुस्तान टीम,नोएडाFri, 24 May 2024 07:15 PM
ऐप पर पढ़ें

नोएडा, संवाददाता। साइबर अपराधियों ने सेक्टर-134 निवासी महिला को शेयर बाजार में निवेश कर लाखों कमाने का झांसा देकर 43 लाख 55 हजार रुपये ऐंठ लिए। पीड़िता को टेलीग्राम ग्रुप में जोड़कर ठगी की गई। महिला ने साइबर क्राइम थाने में केस दर्ज कराया है।
सीमा शर्मा ने पुलिस को बताया कि उनके पास कुछ समय पहले व्हाट्सऐप पर मैसेज आया, जिसमें ऑनलाइन ट्रेडिंग करके लाखों रुपये कमाने की बात कही गई थी। उन्होंने जब उक्त व्हाट्सऐप नंबर पर बात की तो उनको टेलीग्राम ग्रुप में जोड़ दिया गया। इसके बाद उनको कुछ टास्क दिए गए, जिसको उन्होंने पूरा कर दिया। इस दौरान उनको कुछ फायदा हुआ। इसके बाद आरोपियों ने अगले टास्क में ऑनलाइन ट्रेडिंग करने के लिए कहा।

पीड़िता ने बताया कि जालसाजों के झांसे में आकर उन्होंने कई नामी कंपनियों के शेयर में निवेश किया। शेयर बाजार को लेकर उनको जालसाज ऑनलाइन लेक्चर भी देते थे। वे कंपनी के बारे में और शेयर बाजार से जुड़ी सारी जानकारी देते थे। उन्होंने जिन कंपनियों में निवेश किया था, जालसाजों ने उनके दस्तावेज भी उपलब्ध कराए। पीड़िता ने बताया कि संबंधित कंपनियों को लेकर मीडिया में भी काफी अच्छी रिपोर्ट थी। इसकी वजह से वह लगातार जालसाजों के बताए अनुसार रुपये का निवेश करती गईं। उन्होंने 43 लाख 55 हजार रुपये निवेश कर दिए। आरोपियों द्वारा दिए गए ऐप में लगातार उनके निवेश किए गए रुपये बढ़ते दिख रहे थे। वह जब अपने मुनाफे की रकम को वापस लेने लगीं तो जालसाजों ने उनके ट्रेडिंग अकाउंट को बंद कर दिया। उन्होंने वापस से अकाउंट को खोलने के लिए कहा तो जालसाजों ने उनसे और रुपये निवेश करने के लिए कहा। जब उन्होंने जालसाजों से अपने निवेश किए रुपये वापस मांगे तो उनको टेलीग्राम ग्रुप से बाहर कर दिया गया। पीड़िता ने बताया कि इसको लेकर उन्होंने साइबर क्राइम थाने में केस दर्ज कराया। इसके बाद ठगे गए 21 लाख 55 हजार 375 रुपये फ्रीज कर दिए गए। कोर्ट ने उनके रुपये को वापस करने का आदेश दिया, लेकिन अब तक वह ठगी में गए मात्र एक लाख रुपये ही वापस पा सकी हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।